सुविचार : रिश्तों को संजोए रखिए

जन्म से मिले रिश्ते तो प्रकृति के देन है लेकिन खुद के बनाए रिश्तेआपकी पूंजी है। इन्हें सहेज कर रखिए। रिश्तों पारदर्शिता होना वैसे ही जरूरी है जैसे मछली के …

Read More