सुप्रभात: कोई रोके तो ना रुको

अगर कोई पक्षी किसी वृक्ष को बार बार चोंच मारे तो वह कमजोर नहीं होता, वह टूट कर गिर नहीं जाता। ठीक इसी तरह अगर बार बार कोई आपकी आलोचना …

Read More

सुप्रभात: अधर्म को रोकने अगर प्रतिज्ञा तोड़नी पड़े तो वह भी धर्म है

पेड़ की जड़ में करुणा होती है और लताओं में प्रण, प्रतिज्ञा और वचन। कभी-कभी जड़ को बचाने पेड़ की लताओं को काटना पड़ता है। उसी प्रकार किसी को न्याय …

Read More

सुप्रभात: परछाई सदैव काली होती है

मनुष्य कितना भी गोरा क्यों ना होपरंतु उसकी परछाई सदैव काली होती है…“मैं श्रेष्ठ हूँ” यह आत्मविश्वास है!!लेकिन “सिर्फ मैं ही श्रेष्ठ हूँ” यह अहंकार है…”श्री कृष्ण कहते हैं.“इच्छा पूरी …

Read More

सुप्रभात: जीवन बहुत खूबसूरत है

अगर हम हमारी जिंदगी को चिंता करते हुए निकाल देंगे तो हम जीवन के कई खूबसूरत समय को नही जी पाएंगे।जो आज हमको मिला है वो भगवान का दिया हुआ …

Read More