सुप्रभात, अंधेरे में ही दिए कि जरूरत होती है

अगर कोई मनुष्य आपको केवल ज़रूरत पड़ने पर ही याद करता है तो उस बात का बुरा मत मानो, क्योंकि जब अँधेरा हो जाता है तभी दिए की याद आती …

Read More

सुप्रभात: कुएँ में पानी लाना नहीं पड़ता है!

एक आदमी एक कुवाँ निर्मित करने के लिए, जमीन खोदता है, पत्थर निकालता है, मिट्टी निकालता है और नीचे झरने फूट पड़ते हैं, कुएँ में पानी भर जाता है । …

Read More

Positive Saturday: सुप्रभात

खुद को बदलना ज्यादा बेहतर है चाणक्य एक जंगल में झोपड़ी बनाकर रहते थे। वहां अनेक लोग उनसे परामर्श लेने आते थे। जिस जंगल में वह रहते थे, वह पत्थरों …

Read More