स्टेट बैंक के अंदर खोल दी कपड़े की दुकान, लेनदेन खरीदारी साथ-साथ

राजस्‍थान के गुना जिले की राघौगढ़ तहसील के बरसत गांव में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में ग्राहकों को बैंक में लेन-देन के साथ कपड़ों की खरीदारी की सुविधा है। यह दुकान मकान मालिक ने बैंक के भीतर दुकान खोल दी है। यह दुकान पिछले डेढ़ साल से चल रही है। इससे बैंक की सुरक्षा भी दांव पर लगी है। इस मामले में शाखा प्रबंधक ने क्षेत्रीय प्रबंधक को पत्र लिखा है  तो चार मुख्य प्रबंधक मौका मुआयना भी कर चुके हैं, लेकिन अब तक बैंक की इमारत को सुरक्षा के दायरे में नहीं लाया जा सका है। इधर मकान मालिक का कहना है कि अगर बैंक किराया बढ़ा दे तो बीच में दीवार उठवा दूंगा।
आश्चर्य की बात यह कि बैंक की शाखा में स्ट्रांग रूम के सामने कपड़े की खरीदारी भी होती है, क्योंकि शाखा के पिछले हिस्से में स्ट्रांग रूम के सामने मकान मालिक ने दुकान खोल रखी है। इससे बैंक की सुरक्षा को भी खतरा है। इधर, शाखा प्रबंधक ने क्षेत्रीय प्रबंधक को पत्र लिखा है, जिसमें कहा है कि मकान मालिक ने अतिक्रमण कर बैंक में दुकान खोल ली है, जिससे बैंक की सुरक्षा को खतरा है। सबसे अहम बात यह कि जिले के चार मुख्य प्रबंधक भी शाखा का निरीक्षण कर चुके हैं, जिन्होंने बैंक की सुरक्षा को खतरा माना है। वहीं बैंक कर्मचारियों ने क्षेत्रीय प्रबंधक को शाखा परिसर में दुकान खुलने के वीडियो भी भेजे हैं, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।
शाखा प्रबंधक मनोज वर्मा का कहना है कि मकान मालिक ने अतिक्रमण कर स्ट्रांग रूम की तरफ दरवाजा खोल लिया है, जिससे बैंक की सुरक्षा पर भी खतरा है। इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखते हुए वीडियो भी भेज दिया है।
इस संबंध में एसबीआइ के रीजनल मैनेजर संजय पागे ने बताया कि एसबीआइ की बरसत शाखा में स्ट्रांग रूम के पास कपड़े की दुकान संचालित होने का मामला संज्ञान में आया है। दुकान को तत्काल प्रभाव से हटवाया जाएगा, क्योंकि, इससे बैंक की सुरक्षा को खतरा है।
जब मकान मालिक परवेज रसूल से इस बारे में पूछा गया तो उसने बताया कि मेरे मकान में 17 वर्ष से एसबीआइ की शाखा संचालित है। कपड़े की दुकान बैंक परिसर में है,  जहां कपड़े के बंडल भी बैंक के भीतर रहते हैं। डेढ़ वर्ष से कपड़े की दुकान चला रहा हूं। यदि बैंक प्रशासन किराया बढ़ा दे  तो मैं दीवार उठवा दूंगा।
वहीं एसपी गुना ने राजेश कुमार सिंह ने कहा कि फिलहाल उक्त मामला मेरे संज्ञान में नहीं है, लेकिन शिकायत आती है, तो कार्रवाई की जाएगी। जबकि कलेक्‍टर कुमार पुरुषोत्‍तम ने कहा कि बैंक की सुरक्षा में चूक गंभीर मामला है। यह मामला संज्ञान में आया है। मैं तत्काल एसडीएम को निर्देशित करता हूं।

Share The News
Read Also  मोदी सरकार के इस ऐप से पता चल जाएगा सोने के गहनों की शुद़धता

Get latest news on Whatsapp or Telegram.

   

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of