ICMR ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए के ढूंढा इलाज का नया नुस्खा

कोरोना के इलाज के लिए भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद(आईसीएमआर) ने ढूंढा नया नुस्खा खोजा है। नई तकनीकी से इलाज में अब जानवरों के खून भी उपयोग किया जाएगा। दरअसल आईसीएमआर ने हैदराबाद की एक फार्मास्यूटिकल कंपनी के साथ मिलकर कोरोना के इलाज का नया नुस्खा ढूंढ निकाला है। आईसीएमआर ने दावा किया कि नई तकनीकी में जानवरों के रक्त सीरम का इस्तेमाल करते हुए हाइली प्योरिफाइड ‘एंटीसेरा’ विकसित की है।  यह कोरोना की घातकता को कम करने में काफी कारगर है।

आईसीएमआर ने बताया कि एंटीसेरा जानवरों से प्राप्त ब्लड सीरम है। इसमें खास एंटीजन के खिलाफ एंटीबॉडीज होते हैं। खास बीमारियों के उपचार में इनका इस्तेमाल किया जाता है। देश में प्लाज्मा थेरेपी के बाद कोरोना के उपचार के लिए सामने आई यह एक नई थेरेपी है। दावा किया जा रहा है कि यह न सिर्फ कोरोना के मरीजों में बीमारी की भयावहता की रोकथाम में कारगर है, बल्कि यह उसका इलाज कर पाने में भी सक्षम है। आईसीएमआर ने बताया कि इस तरह के उपायों का इस्तेमाल इससे पहले भी कई वायरल बैक्टीरियल संक्रमणों को नियंत्रित करने में किया जा चुका है।

कोरोना का संक्रमण देश में भले घट रहा हो, लेकिन खतरा बढ़ता जा रहा है। अब तक करीब एक लाख लोग वायरस की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं, इनमें से 34 फीसदी मौतें सिर्फ सितंबर महीने में हुई हैं। रोजाना करीब 1,100 लोग दम तोड़ रहे हैं। इतना ही नहीं, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश के वैज्ञानिकों की एक रिसर्च में पता चला है कि बच्चों से सबसे ज्यादा संक्रमण फैल रहा है। यह सबसे ज्यादा चिंता करने की बात है।

Read Also  Oxford यूनिवर्सिटी के कोरोना वैक्सीन के दूसरे फेल का ट्रायल आज से शुरू

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, सितंबर में कोरोना का विकराल रूप देखने को मिला। वायरस की वजह से अब तक 98,678 लोगों ने जान गंवाई। इनमें से 33,255 लोगों की मौत सिर्फ सितंबर में हुई। करीब 50 फीसदी से ज्यादा लोगों ने सिर्फ तीन राज्यों महाराष्ट्र, तमिलनाडु और कर्नाटक में दम तोड़ दिया। संक्रमण भी सितंबर में काफी तेजी से बढ़ा। अगस्त में 19.87 लाख लोग वायरस की चपेट में आए थे, जबकि सितंबर में 26.24 लाख लोग संक्रमित हो गए। हालांकि, बीते एक हफ्ते से इसमें गिरावट देखने को मिली है।

पहले जहां रोजाना 95 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए जाते थे, वह अब घटकर औसतन 85 हजार से नीचे आ गए हैं। आज भी 86,821 नए मामले सामने आए व 1181 लोगों की मौत हो गई। अब तक 63,12,585 लोग संक्रमण के दायरे में आ चुके हैं। हालांकि, राहत की बात है कि 52.73 लाख लोग वायरस को मात दे चुके हैं। देश में रिकवरी की दर 83.53 प्रतिशत है, जबकि मृत्यु दर 1.56 फीसदी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 70 प्रतिशत से अधिक मामलों में मृत्यु अन्य बीमारियों के कारण हुई।

Share The News

Get latest news on Whatsapp or Telegram.

   

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of