बिहार में दुष्कर्म कर एक किशोरी को जिंदा जलाया, दूसरी की फोड़ दी आखें


Notice: Undefined variable: bg_color in /home/p2lkystz9j10/public_html/wp-content/plugins/gs-facebook-comments/public/class-wpfc-public.php on line 258

बिहार में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। राज्‍य में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। उनके साथ लगातार हैवानियत की घटनाएं हो रही हैं। सुशासन बाबु यानी मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की राज्‍य शासन से पकड ढीली पड गई है। गत दिन मुजफ्फरपुर में दुष्कर्म के बाद एक किशोरी को जिंदा जला दिया गया तो दूसरी ओर मधुबनी जिले में एक मूक बधिर किशोरी के साथ दुष्कर्म के बाद आरोपितों ने उसकी आंखें फोड़ दी।

मुजफ्फरपुर जिले के साहेबगंज थाना क्षेत्र के एक गांव में तीन जनवरी को चार लड़कों ने एक किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसे जिंदा जला दिया है। किशोरी के पिता की शिकायत पर पुलिस ने गुलशन कुमार, चंचल कुमार, अभिनय कुमार तथा राजा कुमार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

पीड़िता के पिता पंजाब के एक कारखाने में मजदूरी करते हैं। तीन जनवरी को मोबाइल फोन पर उन्हें जानकारी मिली कि सामूहिक दुष्कर्म के बाद आग लगाकर उनकी छोटी बेटी की हत्या कर दी गई है। छह जनवरी को घर पहुंचने के बाद उन्होंने मामले सही पाया। उनकी एक अन्य पुत्री ने बताया कि पांच दिसंबर की देर रात उनकी छोटी बेटी के साथ गुलशन कुमार और चंचल कुमार ने दुष्कर्म किया। इस कुकृत्य का वीडियो बना लिया। बार-बार शारीरिक संबंध बनाने और किसी को बताने पर हत्या करने की वे धमकी दे रहे थे। उनलोगों ने अश्लील वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया। तीन जनवरी सुबह चारों ने उनके घर के एक कमरे में किशोरी के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसे जिंदा जला दिया। थानाध्यक्ष अनूप कुमार ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

Read Also  कश्मीर में स्कूलों को खाली कराने का फरमान, रसोई गैस स्टॉक करने का आदेश

उधर, मधुबनी जिले के हरलाखी थाना क्षेत्र के एक गांव में एक मूक बधिर किशोरी के साथ पहले दुष्कर्म किया और फिर पहचान उजागर होने के भय से उसकी दोनों आंखों पर किसी नुकीली चीज से प्रहार कर दिया। एक आंख बाहर निकल आई वहीं दूसरी आंख की स्थिति खराब है। घटना को गांव और आसपास के दरिदों ने अंजाम दिया।

प्राथमिक उपचार के बाद पीड़िता को सदर अस्पताल, मधुबनी रेफर कर दिया गया जहां उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है। हरलाखी थानाध्यक्ष प्रेमलाल पासवान ने शक के आधार पर एक को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है।

पीड़िता के भाई ने बताया कि सुबह आठ बजे उसकी 17 वर्षीया मूक बधिर बहन बकरी का चारा लाने घर से नदी के पार खेत में गई थी। सुबह नौ बजे पड़ोस की एक लड़की चिल्लाते आई। बताया कि बहन गंभीर रूप से जख्मी है। दर्द से कराह रही है। जब नदी के पार गेहूं के खेत में पहुंचा तो बहन को जख्मी हालत में बेहोश पाया। उसकी दोनों आंखों से खून बह रहा था। कपड़े अस्तव्यस्त थे। शरीर के अन्य भाग से भी खून बह रहा था। पीड़िता के भाई ने दावा किया कि लक्ष्मी मुखिया ने ही अपने साथियों के साथ वारदात को अंजाम दिया है।

Share The News

Get latest news on Whatsapp or Telegram.