शराब पकड़ने पर आबकारी अफसरों को मिल रही धमकी

बेमेतरा। जिले के आबकारी विभाग की टीम ने नवागढ़ ब्लॉक के थाना नांदघाट क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम संबलपुर के एक रहवासी मकान में छापा मारकर मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ की 25 पेटी से अधिक देशी विदेशी शराब को जब्त किया है। आबकारी विभाग की टीम ने उक्त मकान का ताला तोड़कर शराब को बरामद किया। टीम की आने की खबर आरोपी को लग चुकी थी। मौके से आरोपी ताला लगाकर फरार हो गया था। आबकारी विभाग ने आरोपी युवक रामप्रकाश उर्फ लल्ला बघेल के विरूद्ध गैर जमानती आबकारी एक्ट की धारा 34 (2), 36, 59 (क) का प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया गया है। आबकारी विभाग के उपनिरीक्षक जलेश सिंह व प्रकाश देशमुख ने बताया कि जिले में अवैध रूप से खप रही शराब के विरूद्ध उच्च अधिकारियों के मार्गदर्शन में अभियान चलाया जा रहा है। उसी क्रम में ग्राम के एक रहवासी मकान में छापामार कार्यवाही की गई। आबकारी टीम के पहुंंचने की भनक लगने के चलते ताला लगाकर आरोपी रामप्रकाश पिता स्व. गोपाल बघेल फरार हो गया था। ग्राम सरपंच व कोटवार की मौजूदगी में विधिवत पंचनामा बनाकर विभाग के द्वारा घर का ताला तोड़ा गया। जहां से 25 पेटी 20 नग शराब को बरामद किया गया। जिनमें मध्यप्रदेश निर्मित विदेशी मदिरा 820 पौव्वा, 16 पेटी 20 नग तथा 9 पेटी देशी मदिरा प्लेन 432 नग कुल 1252 नग कीमत ढेड़ लाख रुपए की शराब को उक्त रहवासी घर से जब्त किया गया। आरोपी के विरुद्ध आबकारी एक्ट की गैरजमानती धारा कायम कर विवेचना में लिया गया और फरार आरोपी की पतासाजी की जा रही है। रेड की कार्यवाही के दौरान सहायक जिला आबकारी अधिकारी मदन लाल ठाकुर, वृत्त प्रभारी आबकारी उपनिरीक्षक जलेश कुमार सिंह, आबकारी उपनिरीक्षक प्रकाश कुमार देशमुख के साथ आबकारी आर. इम्तियाज खान एवं वाहन चालक नवीन साहू शामिल रहे।
रेड कार्यवाही के दौरान टीम के सदस्यों को मिल रही धमकी
जिले में मध्यप्रदेश की शराब को भारी मात्रा में खपाई जा रही है, जिससे छत्तीसगढ़ के राजस्व में नुकसान हो रहा है। जिसे लेकर आबकारी विभाग अवैध रूप से मध्यप्रदेश की बेच रहे शराब के विरुद्ध कार्यवाही कर रहा है, परन्तु सूत्रों के अनुसार इस दौरान शराब के धंधे से जुड़े रसूकदार लोगों द्वारा आबकारी विभाग के अधिकारियों को दूरस्थ अंचल में तबादला कराने की लगातार धमकी दी जा रही है। छापामार कार्रवाई के दौरान कई ऐसे लोगों द्वारा फोन में शराब और आरोपी को छोड़ने की धमकी दे रहे हैं न छोड़ने पर अंजाम भुगतने को तैयार रहने की बाते कह रहे हंै। विभाग के एक आला अधिकारी ने इस बात की पीड़ा अपने उच्च अधिकारियों को भी व्यक्त की है। यहां तक के उच्च अधिकारी ने यह भी बताया कि कई क्षेत्रों में अवैध शराब के कोचिए महिलाओं को आगे कर कार्यवाही में बाधा पहुंचाते है और झूठे प्रकरण में फंसाने की धमकी भी इस दौरान उन्हें मिलती है।

Share The News
Read Also  नक्सलियों ने सड़क निर्माण कार्य में लगे 5 वाहनों को किया आग के हवाले

Get latest news on Whatsapp or Telegram.