सरकार ने किसानों के लिए खोला विदेशी बाजारों का रास्ता

सरकार ने किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए सभी फलों एवं सब्जियों को ऑपरेशन ग्रीन्स में शामिल करने का फैसला किया है जिससे इनके संरक्षण, प्रसंस्करण तथा बिक्री के बुनियादी ढाँचों को मजबूत बनाने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही एग्री कमोडिटी को सीधे विदेशी बाजारों में भी बेचने की किसानों की मांग को सरकार ने मान लिया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस मांग संबंधी घोषणा आज की। दरअसल किसानों को उपज की बेहतर कीमत दिलाने के लिए सरकार ने इसेंशियल कमोडिटी एक्ट 1955 में बदलाव करने की घोषणा की है। इससे हर तरह के अनाज, दलहन, तिलहन से जुड़ी फसलें उगाने वाले किसानों को उत्पाद की बेहतर कीमत मिल सकेगी। इससे ग्रामीण क्षेत्र की तस्वीर बदलने में मदद मिलेगी।

अगर उदाहरण के तौर पर देखें तो बिहार के कुछ इलाके में बेहतरीन खुशबू देने वाले धान की कुछ किस्मों का उत्पादन होता है, लेकिन इसेंशियल कमोडिटी एक्ट में आने से इसकी खरीद बिक्री में निजी कंपनियां रुचि नहीं लेती। ऐसे में किसानों को एमएसपी पर ही अपनी फसल को बेचने पर मजबूर होना पड़ता है। इस किस्म के चावल या इस धान से बने अन्य खाद्य पदार्थों की विदेशों में जबरदस्त मांग है। अब, जब इस कमोडिटी पर यह कानून लागू नहीं होगा तो वह किसानों पर ज्यादा मूल्य पर धान खरीद सकेंगे और इसका विदेशी बाजारों में निर्यात होगा। इससे किसानों को बेहतर कीमत मिलेगी। इसी कानून की वजह से किसानों को अपना उत्पाद एमएसपी पर बेचने को मजबूर होना पड़ता था। किसी वस्तु की असली कीमत तो बाजार में तय होती है। जब किसानों को पता चलेगा कि अमुक फसल की मांग ज्यादा है तो उसी को उगाएंगे। इससे उनकी आमदनी बढ़ेगी और ग्रामीण क्षेत्र में खुशहाली आएगी।

Read Also  कोरोना ने गांधी परिवार में दी दस्‍तक, प्रियंका हुईं आइसोलेट

वित्त मंत्री निर्मला सीतामरण ने आज यहां आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत किसानों को बेहतर मूल्य दिलाने और इस क्षेत्र में निजी निवेश आकर्षित करने के उद्देश्य से अब इस कानून में संशोधन की जा रही है। सरकार इस कानून में आवश्यक संशोधन करेगी। उन्होंने कहा कि किसानों को अपने पंसद के अनुरूप विपणन की सुविधा देने के लिए क़षि विपणन सुधार किया जायेगा। इसके लिए एक कानून बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि किसानों के जोखिम को कम करने , एक निर्धारित रिटर्न दिलाने और गुणवत्ता मानिकीकरण के उद्देश्य से कृषि उत्पाद मूल्य और गुणवत्ता आवश्वासन से जुड़ा एक वैधानिक फ्रेमवर्क बनाया जायेगा।

उधर, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने बताया कि अब तक ऑपरेशन ग्रीन्स में सिर्फ आलू, प्याज और टमाटर आते थे। अब सभी फलों एवं सब्जियों को शामिल करने का निर्णय लिया गया है जिससे इनकी कीमतों में स्थिरता भी सुनिश्चित हो सकेगी। प्रयोग के तौर पर अभी छह महीने के लिए अन्य फल-सब्जियों को इस मिशन का हिस्सा बनाया गया है। इसके लिए 500 करोड़ रुपये का अतिरिक्त आवंटन किया जायेगा। ऑपरेशन ग्रीन्स में कृषि लॉजिस्टिक्स के विकास, प्रसंस्करण सुविधा और पेशेवर प्रबंधन पर ध्यान दिया जाता है। इससे फसलों का संरक्षण लंबे समय तक करने और आपूर्ति श्रृंखला के विकास में मदद मिलती है।

ये है आवश्यक वस्तु अधिनियम, 1955
आवश्यक वस्तु अधिनियम को 1955 में भारत की संसद ने पारित किया था। तब से सरकार इस कानून की मदद से आवश्यक वस्तुओं का उत्पादन, आपूर्ति और वितरण को नियंत्रित करती है ताकि ये चीजें उपभोक्ताओं को मुनासिब दाम पर उपलब्ध हों। सरकार अगर किसी चीज को आवश्यक वस्तु घोषित कर देती है तो सरकार के पास अधिकार आ जाता है कि वह उस पैकेज्ड प्रॉडक्ट का अधिकतम खुदरा मूल्य तय कर दे। उस मूल्य से अधिक दाम पर चीजों को बेचने पर सजा हो सकती है। अभी तक इसके दायरे में अनाज, दलहन और तिलहनी फसल आ रहे हैं। इसी वजह से किसानों को अधिकतर उत्पादों की सही कीमत नहीं मिल पाती है।

Share The News


CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 


दुर्ग में मिले सबसे ज्यादा संक्रमित, देखे आंकड़े

By Reporter 5 / June 26, 2022 / 0 Comments
रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना एक बार फिर पांव पसारता नजर आ रहा है। जांच के साथ संक्रमण दर भी बढ़ रही है। बीती रात जारी आंकड़ों के अनुसार दुर्ग में सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। आज 10 हजार 740...

गोधन ने बना दी जोड़ी : गोबर बेचकर हुई कमाई तो शादी में आ रही रुकावट दूर

By Rakesh Soni / June 29, 2022 / 0 Comments
गोधन न्याय योजना की वजह से मिली जीवनसंगिनी रायपुर। कुछ वर्ष पहले एक फिल्म आयी थी रब ने बना दी जोड़ी, लेकिन छत्तीसगढ़ में अब लोग कह रहे हैं गोधन ने बना दी जोड़ी। दरअसल कोरिया में एक युवक की...

उदयपुर मामला: पाकिस्तान के दावत-ए-इस्लामी संगठन से जुड़े हैं आरोपियों के तार

By Rakesh Soni / June 29, 2022 / 0 Comments
एनआईए और एसआईटी की टीम आज करेगी पूछताछ उदयपुर। उदयपुर में जघन्य हत्या के बाद पूरे शहर में जगह-जगह पुलिस तैनात कर दी गई है। सात थाना क्षेत्रों में कफ्र्यू लगा दिया गया है। वहीं पूरे राजस्थान में 24 घंटे...

बैंक ऑफ बड़ौदा में निकली भर्ती,मिलेगा 89000 तक सैलरी

By Rakesh Soni / June 26, 2022 / 0 Comments
बैंक ऑफ बड़ोदा ने विभिन्न पदों पर नौकरी निकाली है, जिसकी लास्ट डेट १२ जुलाई तक रखी गई है। उम्मीदवार आवेदन करने से पहले इन सभी आवश्यक बातों को ध्यान से जरूर पढ़ें. साथ ही जो भी उम्मीदवार Bank of...

देश में हो सकता है दो तरफा हमला: वायुसेना चीफ ने दी चेतावनी

By Rakesh Soni / June 27, 2022 / 0 Comments
नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने भारत पर दो तरफा आक्रमण होने की चेतावनी जारी की है। दरअसल, भारत के दोनों दुश्मन देश पाकिस्तान और चीन की तरफ से हमले की आशंका जताई है।...

तेज रफ्तार ट्रक ने कार को मारी टक्कर-भिलाई के कारोबारी भाइयों की मौत

By Rakesh Soni / June 29, 2022 / 0 Comments
सरगुजा। सरगुजा में बुधवार सुबह तेज रफ्तार ट्रक और कार की टक्कर हो गई। हादसे में कार सवार कारोबारी दो भाइयों की मौत हो गई। जबकि 3 भाइयों की हालत गंभीर है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीनों घायलों को...

Ekhabri Breaking News: प्रशासनिक सर्जरी आईएएस डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे बने रायपुर जिले के कलेक्टर, देखें आदेश 37 आईएएस का तबादला

By Reporter 5 / June 28, 2022 / 0 Comments
रायपुर। राज्य शासन ने बड़े पैमाने पर आईएएस अफसरों का तबादला किया है। 2011 बैच के आईएएस डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे को रायपुर जिले के कलेक्टर बनाया गए है। डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे का दुर्ग जिले से रायपुर ट्रांसफर किया...

आज का राशिफल

By Reporter 1 / June 25, 2022 / 0 Comments
मेष राशि : आज आपको शासन द्वारा सम्मानित किए जाने की संभावना बनती दिख रही है। यदि आप किसी बैंक संस्था अथवा व्यक्ति से लोन लेना चाहते हैं, तो वह आपको आसानी से मिल जाएगा। आपको अपने पुराने मित्रों का सहयोग...

कपल ने ‘सबसे खतरनाक ट्रेन में मनाया हनीमून

By Rakesh Soni / June 28, 2022 / 0 Comments
मॉरीतानिया । एक कपल ने हनीमून के चौंकाने वाले फोटोज शेयर किए हैं. कपल 'दुनिया की सबसे खतरनाक ट्रेन में सफर करता दिख रहा है. ट्रेन सहारा रेगिस्तान से गुजर रही है. इस ट्रेन रूट में परिस्थितियां काफी विषम हैं...

अब घरों में लगेगी डिजिटल प्लेट, पहचान होगी सरल

By Reporter 5 / June 26, 2022 / 0 Comments
रायपुर। घरों की पहचान को आसान बनाने निगम हाईटेक तरीका अपनाने जा रहा है। स्मार्ट सिटी मिशन के स्थापना दिवस पर रायपुर स्मार्ट सिटी और इंडसइंड बैंक के बीच रायपुर शहर के सभी 3.15 लाख घरों पर डिजिटल कोर नंबर...

Leave a Reply

Your email address will not be published.