सरकार ने किसानों के लिए खोला विदेशी बाजारों का रास्ता

Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (1)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (1)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (2)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (2)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (3)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (3)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (4)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (4)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (5)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (5)
previous arrow
next arrow

सरकार ने किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए सभी फलों एवं सब्जियों को ऑपरेशन ग्रीन्स में शामिल करने का फैसला किया है जिससे इनके संरक्षण, प्रसंस्करण तथा बिक्री के बुनियादी ढाँचों को मजबूत बनाने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही एग्री कमोडिटी को सीधे विदेशी बाजारों में भी बेचने की किसानों की मांग को सरकार ने मान लिया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस मांग संबंधी घोषणा आज की। दरअसल किसानों को उपज की बेहतर कीमत दिलाने के लिए सरकार ने इसेंशियल कमोडिटी एक्ट 1955 में बदलाव करने की घोषणा की है। इससे हर तरह के अनाज, दलहन, तिलहन से जुड़ी फसलें उगाने वाले किसानों को उत्पाद की बेहतर कीमत मिल सकेगी। इससे ग्रामीण क्षेत्र की तस्वीर बदलने में मदद मिलेगी।

अगर उदाहरण के तौर पर देखें तो बिहार के कुछ इलाके में बेहतरीन खुशबू देने वाले धान की कुछ किस्मों का उत्पादन होता है, लेकिन इसेंशियल कमोडिटी एक्ट में आने से इसकी खरीद बिक्री में निजी कंपनियां रुचि नहीं लेती। ऐसे में किसानों को एमएसपी पर ही अपनी फसल को बेचने पर मजबूर होना पड़ता है। इस किस्म के चावल या इस धान से बने अन्य खाद्य पदार्थों की विदेशों में जबरदस्त मांग है। अब, जब इस कमोडिटी पर यह कानून लागू नहीं होगा तो वह किसानों पर ज्यादा मूल्य पर धान खरीद सकेंगे और इसका विदेशी बाजारों में निर्यात होगा। इससे किसानों को बेहतर कीमत मिलेगी। इसी कानून की वजह से किसानों को अपना उत्पाद एमएसपी पर बेचने को मजबूर होना पड़ता था। किसी वस्तु की असली कीमत तो बाजार में तय होती है। जब किसानों को पता चलेगा कि अमुक फसल की मांग ज्यादा है तो उसी को उगाएंगे। इससे उनकी आमदनी बढ़ेगी और ग्रामीण क्षेत्र में खुशहाली आएगी।

Read Also  BRO के जांबाजों ने 6 दिन में बना दिया चीन तक जाने वाला बैली ब्रिज

वित्त मंत्री निर्मला सीतामरण ने आज यहां आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत किसानों को बेहतर मूल्य दिलाने और इस क्षेत्र में निजी निवेश आकर्षित करने के उद्देश्य से अब इस कानून में संशोधन की जा रही है। सरकार इस कानून में आवश्यक संशोधन करेगी। उन्होंने कहा कि किसानों को अपने पंसद के अनुरूप विपणन की सुविधा देने के लिए क़षि विपणन सुधार किया जायेगा। इसके लिए एक कानून बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि किसानों के जोखिम को कम करने , एक निर्धारित रिटर्न दिलाने और गुणवत्ता मानिकीकरण के उद्देश्य से कृषि उत्पाद मूल्य और गुणवत्ता आवश्वासन से जुड़ा एक वैधानिक फ्रेमवर्क बनाया जायेगा।

उधर, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने बताया कि अब तक ऑपरेशन ग्रीन्स में सिर्फ आलू, प्याज और टमाटर आते थे। अब सभी फलों एवं सब्जियों को शामिल करने का निर्णय लिया गया है जिससे इनकी कीमतों में स्थिरता भी सुनिश्चित हो सकेगी। प्रयोग के तौर पर अभी छह महीने के लिए अन्य फल-सब्जियों को इस मिशन का हिस्सा बनाया गया है। इसके लिए 500 करोड़ रुपये का अतिरिक्त आवंटन किया जायेगा। ऑपरेशन ग्रीन्स में कृषि लॉजिस्टिक्स के विकास, प्रसंस्करण सुविधा और पेशेवर प्रबंधन पर ध्यान दिया जाता है। इससे फसलों का संरक्षण लंबे समय तक करने और आपूर्ति श्रृंखला के विकास में मदद मिलती है।

ये है आवश्यक वस्तु अधिनियम, 1955
आवश्यक वस्तु अधिनियम को 1955 में भारत की संसद ने पारित किया था। तब से सरकार इस कानून की मदद से आवश्यक वस्तुओं का उत्पादन, आपूर्ति और वितरण को नियंत्रित करती है ताकि ये चीजें उपभोक्ताओं को मुनासिब दाम पर उपलब्ध हों। सरकार अगर किसी चीज को आवश्यक वस्तु घोषित कर देती है तो सरकार के पास अधिकार आ जाता है कि वह उस पैकेज्ड प्रॉडक्ट का अधिकतम खुदरा मूल्य तय कर दे। उस मूल्य से अधिक दाम पर चीजों को बेचने पर सजा हो सकती है। अभी तक इसके दायरे में अनाज, दलहन और तिलहनी फसल आ रहे हैं। इसी वजह से किसानों को अधिकतर उत्पादों की सही कीमत नहीं मिल पाती है।

Share The News


CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 


IMG 20230320 185739 750 x 600 pixel

शाम को रंगीन बनाया फाग गीत के साथ बारिश ने, सौ से अधिक विप्रजन सपरिवार शामिल हुए मां गंगा विप्र कल्याण संघ के होली मिलन कार्यक्रम में

By Reporter 5 / March 20, 2023 / 0 Comments
शाम को रंगीन बनाया फाग गीत के साथ बारिश की बौछारों ने  बच्चे बड़े सब ने बांके बिहारी की तरह मथुरा की फूलों की होली खेली    रायपुर। मां गंगा विप्र कल्याण संघ के रायपुर इकाई द्वारा पांचवे वर्ष विप्र...

विवाहित स्नातक महिलाओं को मिलेगा रोजगार

By Sub Editor / March 20, 2023 / 0 Comments
21 से 31 मार्च तक होगा प्लेसमेंट कैम्प, 10-20 हजार रूपये तक वेतन रायुपर। रायपुर जिले की विवाहित स्नातक पास महिलाओं को रोजगार का अवसर मिलेगा। जिला रोजगार एवं स्वरोजगार मार्गदर्शन केन्द्र रायपुर द्वारा ऐसी शिक्षित बेरोजगार विवाहित महिलाओं को...

छग का नाम रौशन करेंगे अर्पण के मूक-बधिर बच्चे सुभाष शर्मा ने किया मूर्ति निर्माण प्रशिक्षण कार्यशाला का अवलोकन

By Sub Editor / March 22, 2023 / 0 Comments
रायपुर, 22 मार्च। अर्पण कल्याण समिति द्वारा राजेन्द्रनगर में संचालित अर्पण दिव्यांग पब्लिक स्कूल में अध्ययनरत मूक-बधिर बच्चों को मूर्ति निर्माण कला सिखाई गई। संचालनालय पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय द्वारा दस दिवसीय पुरातत्वीय प्लास्टर कास्ट प्रतिकृति प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन...
marrige

पत्नियों ने पति के साथ रहने के लिए हफ्ते में तीन-तीन दिन बांटे

By Reporter 1 / March 19, 2023 / 0 Comments
मध्‍य प्रदेश के ग्वालियर में एक रोचक मामला सामने आया है। कुटुंब न्यायालय में केस पहुंचने से पहले ही काउंसलर ने दोनों पत्नियों के बीच सुलह करा दी। पत्नियों ने पति के साथ रहने के लिए हफ्ते के तीन-तीन दिन...

पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर स्टेट वर्किग जर्नलिस्ट यूनियन ने मुख्यमंत्री का जताया आभार

By Sub Editor / March 25, 2023 / 0 Comments
रायपुर। स्टेट वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन छत्तीसगढ़ के प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार 24 मार्च को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात की। यूनियन के अध्यक्ष पीसी रथ, महासचिव विरेन्द्र शर्मा, संगठन सचिव सुधीर आज़ाद तम्बोली और कुणाल दत्त मिश्रा ने मुख्यमंत्री...

बड़ी संख्या में लिपिकों का हुआ तबादला

By Sub Editor / March 21, 2023 / 0 Comments
  रायपुर। रायगढ़ जिले में बड़ी संख्या में लिपिकों का तबादला हुआ है। बताया जा रहा है कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा के आदेश के बाद यह सर्जरी हुई है। कलेक्ट्रेट में सालों से एक ही पोस्ट पर जमे लिपिकों का...

बाहरी एनजीओ का ग्रामों में हस्तक्षेप का ग्रामीणों ने किया विरोध, खदान के विरोध के लिए ग्रामीणों को बरगलाने की कर रहे थे कोशिश

By Sub Editor / March 22, 2023 / 0 Comments
कहा हमें अब सिर्फ सरकार और कंपनी का चाहिए हस्तक्षेप साल्हि। उदयपुर तहसील में स्थित परसा ईस्ट और केते बासेन (पीईकेबी) कोयला खदान परियोजना के बंद होने की खबर से सरगुजा के जिला मुख्यालय सहित आस पास के ग्रामों के...

रायपुर ऑटो एक्सपो में सरकार दे रही है टैक्स में 50 प्रतिशत की छूट

By Sub Editor / March 23, 2023 / 0 Comments
ऑटो मोबाइल्स व्यवसाय में होगी वृद्धि रायपुर | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राडा की मांग पर आवश्यक पहल करते हुए राजधानी रायपुर में आयोजित आटो एक्सपो-2023 में सभी प्रकार की वाहनों पर रोड टैक्स में 50 फीसदी की छूट की...
one day

वनडे विश्व कप के मैच 12 शहरों में होंगे

By Reporter 1 / March 22, 2023 / 0 Comments
इस साल के अंत में भारत में होने वाले वनडे विश्व कप के मैच 12 शहरों में होंगे। रिपोर्ट के अनुसार, विश्व कप की शुरुआत पांच अक्टूबर से होगी और फाइनल मैच 19 नवंबर को अहमदाबाद के नरेन्द्र मोदी स्टेडियम...
IMG 20230321 WA0013

23 मार्च चेट्रीचंड्र महोत्सव पर अवकाश घोषित, आदेश जारी

By Sub Editor / March 21, 2023 / 0 Comments
  रायपुर। राज्य शासन ने प्रदेश के सभी नगर निगम और नगर पालिका क्षेत्रों में चेट्रीचंड्र महोत्सव के लिए छुट्टी का आदेश जारी किया है। सीएम भूपेश बघेल की घोषणा पर अमल करते हुए राज्य शासन ने नगर निगम और...

Leave a Comment