सौ सवाल तैयार करिए और बोर्ड परीक्षा पास कीजिए

देश में कोरोना संकट बीच 10वीं और 12वीं की बोर्ड की परीक्षा देने जा रहे छात्रों को बड़ी राहत मिलेगी। यह राहत शिक्षा मंत्रालय से जुड़ी संसद की स्थायी समिति ने सिफारिश कर की है। समिति ने छात्रों को 100 सवालों का एक प्रश्न बैंक उपलब्ध कराने की सिफारिश की गई है, जिससे परीक्षा में सारे सवाल पूछे जाएंगे। यानी परीक्षा को पास करने के लिए इन्हीं सौ सवालों को तैयार करना होगा।

शिक्षा मंत्रालय से जुड़ी संसद की स्थायी समिति की बैठक भाजपा सांसद डाक्टर विनय सहत्रबुद्धे की अगुआई में हुई। इसमें बोर्ड परीक्षाओं, स्कूलों के खुलने और नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत पुस्तकों को तैयार करने के बिंदुओं पर विस्तृत चर्चा की गई। कोरोना संकट में जब स्कूल पूरे समय बंद थे, ऐसे में होने जा रहीं 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को लेकर लंबा मंथन हुआ। छात्रों को परीक्षा के लिए बेहतर विकल्प मुहैया कराने पर सहमति बनी।

समिति ने इस दौरान बोर्ड परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए मंत्रालय से सौ सवालों का एक प्रश्‍न बैंक मुहैया कराने की सिफारिश् की। साथ ही कहा कि परीक्षा में जो सवाल पूछे जाए, वे इन्हीं बैंक से लिए जाएं। समिति का मानना है कि जो छात्र कोरोना काल में आनलाइन पढ़ाई ठीक से नहीं कर पाए हैं, वे बाकी बचे समय में इस सवालों को तैयार करके परीक्षा को आसानी से पास कर सकेंगे।

साथ ही कमेटी ने स्कूल खोलने की प्रक्रिया और तेज करने का भी सुझाव दिया। बैठक में उत्तर प्रदेश,  मध्य प्रदेश,  असम और जम्मू-कश्मीर में स्कूलों को सुरक्षित तरीके से खोलने के कदम को सराहा भी गया। समिति ने सुझाव दिया कि परीक्षाओं से पहले स्कूलों को खोला जाए। 10वीं और 12वीं के बच्चों को कक्षाओं में बुलाया जाए और बाकी बचे एक-दो महीने में परीक्षा से जुड़ी तैयारी कराई जाए। फिलहाल शिक्षा मंत्रालय ने सीबीएसई की ़10वीं और ़12वीं की बोर्ड परीक्षा चार मई 2021 से आयोजित करने का फैसला लिया है।

Share The News
Read Also  विशेष: इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय को मिला भारत सरकार का पेटेंट - मिट्टी परीक्षण किट के लिए

Get latest news on Whatsapp or Telegram.