Ekhabri “World Heart Day” Special- कैसे जाने क्या है आपके दिल का हाल, कौन-कौन से भोजपदर्थो से है दिल को हानि, जाने विशेषज्ञ की सलाह


रायपुर,पूनम ऋतु सेन। हृदय संबंधी बीमारियों के प्रति जागरूकता के उद्देश्य से हर साल 29 सितंबर को विश्व हृदय दिवस मनाया जाता है। हृदय रोगों के तेजी से बढ़ने के कारण इसके प्रति लोगों को जागरूक रहने की जरूरत है ताकि इस बीमारी से दूर रहा जा सके।

इसी संबंध में आज हमारी बातचीत हुई ‘राजराजेश्वरी आयुर्वेदिक एवं क्षारसूत्र क्लीनिक’ के संस्थापक डॉक्टर “श्रीनिवास रॉव” से। डॉ रॉव एक्यूट एवं क्रोनिक डिसीज के जानकार हैं जो विगत 30 वर्षों से रायपुर, छत्तीसगढ़ में आयुर्वेद के क्षेत्र में अपनी सेवायें दे रहें हैं।

डॉ केबी श्रीनिवास राव
B.A.M.S-(AYU), K.R.T.C-(MUMBAI)
I.C.D.S(HONG KONG), B.P.K.S(DUBAI), B.P.K.S(MALAYSIA)
INTER’L – AYURVED CONSULTANT USA- AMERICA

विश्व हार्ट दिवस के अवसर पर डॉक्टर राव से हुई बातचीत के कुछ अंश हम यहां आपसे साझा कर रहे हैं। आइये विस्तार से जानते हैं हम अपने दिल का ख्याल किस तरह रखें-

• किसी व्यक्ति को हार्ट से संबंधित बीमारियां है, इसका पता कैसे चलेगा? क्या है हृदय रोग के लक्षण?

डॉ राव के अनुसार- आज के वर्तमान जीवनशैली, गलत खानपान, मोटापा, तनाव, नशा आदि कारणों से दुनियाभर में बहुत सारे लोग कई गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। इनमें से कई बीमारियां जानलेवा होती हैं। हृदय संबंधी बीमारियां भी इन्हीं में से है, जिस कारण बहुत सारे लोगों की मौत हो जाती है। पहले जहां उम्रदराज लोगों में हृदय रोग की समस्या देखी जाती थी, अब कम उम्र में भी दिल से जुड़ी बीमारियां शुरू हो जाती हैं। 
यदि 20 से 25 उम्र के बाद बार बार ACDT की समस्याएँ हों, लगातार चेस्ट में दर्द की शिकायत हों और किसी भी नार्मल हलचल के बाद तेज़ी से पसीने निकलने लगे तो इन सिम्पटम्स को बिना इग्नोर किये तुरंत किसी डॉक्टर से परामर्श लें और उनके कहे अनुसार उपचार लें।


• कोविड-19 के बाद पोस्ट कोविड इफ़ेक्ट के तौर पर हार्ट फेल होने का खतरा ज्यादा बढ़ रहा है, इसके क्या कारण हो सकते हैं?

कोरोना एक ऐसी बीमारी है जो किसी भी व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक तंत्र पर अपना गहरा प्रभाव डालती है, पोस्ट कोविड इफ़ेक्ट के रूप में हर कोरोना प्रभावित व्यक्तियों पर अलग- अलग प्रभाव देखने को मिला है। हमारा दिल भी किसी पंप की तरह कार्य करता है, यदि उस पम्प के कार्य में कुछ रुकावट आये या कुछ दिक्कत आये तब वह अपना कार्य सही से नहीं कर पाएगा, जिसका सीधा असर हार्ट संबंधी रोगों से है।
कोविड-19 के बाद उसके प्रभाव से उठा व्यक्ति अन्य लोगों की तुलना में थोड़ा कम फिट रहता है, उसे वीकनेस की समस्या कुछ दिनों तक बने रहती है जिससे कभी BP लो होने जैसे कुछ लक्षण दिखते हैं और यही कारण दिल रूपी पम्प को अपने सही कार्य निष्पादन के लिए और मेहनत करनी पड़ती है जो वाल्व में प्रेसर डेवेलप करते हैं जिसका अंतिम रूप हार्ट फेलियर भी हो सकता है। इसके लिये किसी अच्छे कार्डियोलॉजिस्ट के देखरेख में अपना इलाज करवाना सही होगा।

• आयुर्वेद क्या कहता है हार्ट संबंधी बीमारियों को लेकर? क्या करें अपनी दिनचर्या में शामिल?

आयुर्वेद भी किसी भी बीमारी से बचने के लिए सही दिनचर्या को महत्वपूर्ण मानता है। सही समय पर उठना और सही पर सोना सबसे ज्यादा जरूरी है। डॉ रॉव आगे बताते हैं कि किसी भी व्यक्ति के लिए मॉर्निंग वॉक बेहद आवश्यक है और यदि आप हार्ट पेशेंट है तो उनके लिए और भी ज्यादा जरूरी हो जाता है। इसके अलावा कार्डियो एक्सरसाइज, साइकिलिंग, योगा जैसे कुछ अन्य माध्यमों से अपने शरीर को फिट रखकर हार्ट को भी सही सलामत बनाए रखा जा सकता है।


• प्रोटीन इंटेक्स के नाम पर बिकने वाले ईटिंग प्रोडक्ट्स कितने सही है?

इस विषय पर डॉ राव ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी अच्छे शारीरिक संरचना पाने के लिए तरह तरह के स्टीरॉइड, प्रोटीन पाउडर और अन्य पदार्थों का सेवन कर रहे हैं, जबकि उन्हें उसका सही अनुपात ही नहीं पता है कि कितना कार्बोज उनके शरीर के लिए जरुरी है और कितना लेना हानिकारक। उन्होंने बिना किसी dietition के सलाह के भ्रामक खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करने की सलाह दी।

• हृदय रोगों से बचने के लिए कुछ प्री टेस्ट होते हैं, ये टेस्ट कौन सी उम्र में कराया जाना सही है?

बिगड़ी हुई जीवनशैली ने नई नई बीमारियों को जगह दी है, जिसमें मोटापा, डाइबिटीज़, थायरोइड आदि प्रमुख हैं। यदि आप ऐसे ही किसी बीमारी से ग्रस्त हैं तो समय समय पर कुछ टेस्ट करवाने जरूरी हो जाते हैं जो हमारे हृदय के लिए आवश्यक है। डॉ रॉव ने 40+ की उम्र के बाद से हर 6 महीने के अंतराल में किसी कार्डियक स्पेशलिस्ट से संपर्क करने की सलाह दी है। साथ ही उन्होंने कहा ब्लड रूटीन, कोलेस्ट्रोल बेस्ड जैसे टेस्ट हार्ट रोगों के खतरों से हमे आगाह करता है। किसी भी हृदय रोग विशेषज्ञ की सलाह से आप ये सारे टेस्ट करवा सकते हैं।

• अल्कोहल और स्मोकिंग हृदय में क्या असर डालते हैं?

डॉ रॉव ने बताया कि ऐसी भ्रांति फैली हुई है कि अल्कोहल का नित सेवन करते रहने से कभी भी हार्ट की कोई बीमारी नहीं होती, इससे हार्ट अटैक कभी नहीं आता, जबकि सच तो ये है कि आप किसी भी चीज़ की अति करें तो वह नुकसान पहुँचाती ही है। कई बुक्स में लिखा होता है कि 30ml तक रोज अल्कोहल लेने से हृदय रोगों से बचा जा सकता है किंतु उसके उलट कोई भी व्यक्ति अपने सीमाओं से बाहर जाकर उसका सेवन करने लग जाता है जो स्वस्थ शरीर के लिहाज से बिल्कुल सही नहीं है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि स्मोकिंग किसी भी अवस्था में सही नहीं है, उसका सेवन करना हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक है।

•  वर्ल्ड हार्ट डे के उपलक्ष्य में आप हमारे पाठकों को क्या संदेश देना चाहेंगे?

डॉ राव के अनुसार “stress is the main cause for any heart disease” सेहतमंद दिल के लिए तनाव से मुक्ति जरुरी है, किसी भी छोटी से छोटी बातों का तनाव लेने से बचिए और खान पान में बेहतर ख्याल रखिये। कुछ भी खाइये कुछ भी करिये लेकिन डेली वर्कआउट करना अपने रूटीन में शामिल करिये। कोशिश करिये की जंक फूड से दूरी बनाये और अपने दिल को खुशनुमा रखने के लिए आज से ही शुरुआत करिये ताकि आने वाले दिनों में आप बेहतर रूप से अपना जीवन जी सकें।

लाभप्रद जानकारी देने के लिए ‘डॉ श्रीनिवास राव’ का Ekhabri की टीम की ओर से आभार व विश्व हृदय दिवस की शुभकामनाएं।

Share The News

CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 





कोविड से निपटने स्वास्थ्य विभाग करेगा रायपुर में 202 अस्थायी पदों पर भर्तियां, वॉक-इन-इंटरव्यू 18 जनवरी से

By Reporter 5 / January 15, 2022 / 0 Comments
रायपुर। स्वास्थ्य विभाग, रायपुर द्वारा 202 अस्थायी पदों पर भर्तियां निकाली गई हैं। इनमें डॉक्टर, मेडिकल ऑफिसर, डेंटिस्ट, हॉस्पिटल मैनेजर, स्टोर इंचार्ज कम फर्मासिस्ट, नर्सिंग स्टॉफ, हाउस कीपिंग सुपरवाइजर, ऑक्सीजन टेक्नीशियन, लैब टेक्नीशियन, टेलीफोन आपरेटर, सिक्यूरिटी गार्ड सहित अन्य पद...

कुम्हारी में कोविड जागरुकता अभियान में मास्क बांटे

By Reporter 5 / January 14, 2022 / 0 Comments
कुम्हारी। सेवा संकल्प समिति कुम्हारी द्वारा आज रविवार को 5000 नग मास्क वितरण किया गया साथ ही लोगों को बढ़ते हुए कोरोना वायरस से बचने के लिए सभी को जागरूक किया गया। इस कार्यक्रम में निश्चय वाजपेयी,महेश सोनकर,गिरीश सोनी,हरिदास वैष्णव,प्रणव...

नवीन तकनीक से 12 सौ किलोग्राम प्रति हेक्टेयर बढ़ा मत्स्य उत्पादन

By Reporter 5 / January 13, 2022 / 0 Comments
दुर्ग। मत्स्य पालन वर्तमान में एक लोकप्रिय व्यवसाय के रूप में उभर रहा है और जिले की अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बना रहा है। आज जिले में मत्स्य बीज के लिए 10 हैचरी स्थल जिससे अन्य राज्य जैसे पश्चिम बंगाल जिसपर...

प्रधानमंत्री किसान योजना में खत्म कर दी गई यह खास सुविधा

By Reporter 1 / January 14, 2022 / 0 Comments
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 2022 में मोदी सरकार बड़ा बदलाव किया है। इसका सीधा असर 12 करोड़ 44 लाख से अधिक किसानों पर पडेगा। सरकार ने यह बदलाव ऐसे समय में किया है, जब उत्तर प्रदेश, पंजाब समेत पांच...

Death News of Collor Rani : उन्तीस बच्चों की मां, पेंच की पहचान, मोस्ट फोटोजेनिक शेरनी नही रही

By Reporter 5 / January 17, 2022 / 0 Comments
सिवनी। मध्य प्रदेश में स्थित पेंच टाइगर रिजर्व की रानी कही जाने वाली कॉलर बाघिन की मौत हो गई है। रविवार को टाइगर रिजर्व पार्क में ही बाघिन का अंतिम संस्कार किया गया है। कॉलर बाघिन 23 बच्चों की मां...

कोरोना बन गया ‘वरदान: देश के कुबेरों की संपत्ति हो गई दोगुनी

By Rakesh Soni / January 17, 2022 / 0 Comments
10 रईसों के पास इतना पैसा कि सभी बच्चों को 25 साल तक शिक्षा दिला सकें नई दिल्ली। कोरोना महामारी देश के 84 फीसदी परिवारों के लिए मुसीबत बनकर आई तो धन कुबेरों के लिए वरदान। महामारी के दौरान देश...

सरकार का अलर्ट : फोन पर बात करते समय मर्ज न करें कोई Call

By Reporter 1 / January 14, 2022 / 0 Comments
मोबाइल फोन पर किसी अंजान व्यक्ति से बात करते समय कॉल को मर्ज न करें, क्‍योंकि ऐसा करने पर आपका इंटरमीडिया अकाउंट हैक हो सकता है। इसके माध्‍यम में साइबर अपराधी आपके बैंक खाते तक पहुंच सकते हैं। साइबर धोखाधड़ी...

आज का राशिफल

By Reporter 1 / January 15, 2022 / 0 Comments
मेष राशि : आज का दिन आपके लिए मध्यम रूप से फलदायक रहेगा। आज आपको हर मामले में जीवनसाथी का सहयोग व सानिध्य में भरपूर मात्रा में मिलता दिख रहा है। आज आपके कार्यक्षेत्र में विरोधी भी आपस में लड़कर...

Ekhabri विशेष: शिशु ज्यादा सुरक्षित कोविड पॉजिटिव गर्भवती मां के पेट में है: डॉ.रश्मि भुरे

By Reporter 5 / January 14, 2022 / 0 Comments
प्रसव के दौरान कोविड प्रोटोकाल का पालन बेहद जरूरी दुर्ग। यह कोई जरूरी नहीं कि कोविड पॉजिटिव गर्भवती के शिशु को भी कोविड होगा। खासकर जब तक वह पेट में है। उस दौरान वह कोरोना संक्रमण से ज्यादा सुरक्षित है।...

कही-सुनी (16-JAN-22): मंच के पीछे की कहानियाँ- राजनीति, प्रशासन और राजनीतिक दलों की

By Reporter 5 / January 16, 2022 / 0 Comments
रवि भोई ( लेखक,पत्रिका समवेत सृजन के प्रबंध संपादक और स्वतंत्र पत्रकार हैं।) टारगेट में मंत्री प्रेमसाय सिंहलगता है छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम का विवादों से नाता जुड़ गया है। भूपेश सरकार में मंत्री बनते...