भीषण चक्रवाती तूफान में बदला निवार, चेन्नई में भारी बारिश से हुआ जल भराव

चेन्नई। तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से आज चक्रवाती तूफान निवार गुजरने वाला है। इसे लेकर सरकार और एनडीआरआफ की टीमें सतर्क हो गई हैं। तटीय इलाकों में बिना किसी कारण लोगों से घर से बाहर निकलने से मना किया गया है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), तटरक्षक बल, दमकल विभाग सहित विभिन्न राज्य और केंद्रीय एजेंसियों के कर्मचारियों की तैनाती किसी भी स्थिति से निपटने के लिए की गई है। मौसम विभाग ने कहा कि बुधवार को तूफान के प्रभाव से तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के ज्यादातर हिस्सों में बारिश हो सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी से बातचीत कर तूफान से पैदा हालात की जानकारी ली और केंद्र से हर संभव मदद का भरोसा दिया। वहीं, एनडीआरएफ प्रमुख एसएन प्रधान ने कहा कि चक्रवाती तूफान की स्थिति तेजी से बदल रही है और यह 120 से 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाले अत्यंत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी में चक्रवाती तूफान निवार के मद्देनजर एनडीआरएफ के करीब 1,200 बचावकर्मियों को तैनात किया गया है और 800 अन्य को तैयार रखा गया है।
-एनडीआरएफ मुस्तैद
एनडीआरएफ प्रमुख एस एन प्रधान ने कहा कि तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी में कुल 22 दलों को पहले ही तैनात किया जा चुका है और आठ दलों को तैयार रखा गया है। उन्होंने कहा, इन 30 दलों में से 12 को तमिलनाडु, सात को आंध्र प्रदेश और तीन को पुडुचेरी में तैनात किया गया है। प्रधान ने बताया कि 20 अतिरिक्त दल तैयार रहेंगे, जिन्हें कटक (ओडिशा), विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश) और त्रिशूर (केरल) जैसे स्थानों से विमान के जरिए पहुंचाया जाएगा। एनडीआरएफ प्रमुख ने बताया कि टीमों के पास सभी प्रकार के संचार यंत्र और खंभे एवं पेड़ काटने के उपकरण हैं और कर्मियों को कोविड-19 हालात के मद्देनजर व्यक्तिगत सुरक्षा किटें मुहैया कराई गई हैं।
चेन्नई में जगह-जगह जल भराव

Read Also  गतिरोध बरकरार: सरकार ने फिर लिखी चिट्ठी, बातचीत को तैयार

तूफानी चक्रवात निवार के चलते तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के कई हिस्सों में जलजमाव हो गया है। निवार के चलते शहर में भारी बारिश हो रही है।
पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने कहा, जनता को सहायता प्रदान करने के लिए राज्य आपदा प्रबंधन नियंत्रण कक्ष से केंद्रीय नियंत्रण कक्ष संचालित किया जा रहा है। निचले इलाकों से लोगों को बाहर निकाला जा रहा है। उन्हें भोजन, पानी, हैंड सैनिटाइजर और फेस मास्क मुहैया कराया जा रहा है। मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी गई है।
चेन्नई से 350 किमी दक्षिण में है तूफान
एरिया साइक्लोन वार्निंग सेंटर के निदेशक ने बताया कि चक्रवाती तूफान चेन्नई से 350 किमी दक्षिण में है और यह उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है। चक्रवाती तूफान के भयंकर चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है। यह तूफान देर शाम या रात को कराईकल और महाबलिपुरम से गुजरेगा। इस दौरान हवा की रफ्तार 145 किमी प्रति घंटा रह सकती है।
-कैबिनेट सचिव ने की तूफान को लेकर बैठक
कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन कमेटी (एनसीएमसी) ने सभी संबंधित विभागों को इस लक्ष्य के साथ काम करने को कहा है कि एक भी व्यक्ति की जान ना जाए। प्रभावित क्षेत्रों में बिजली, संचार व्यवस्था के साथ ही जल्द से जल्द हालात सामान्य बनाने के लिए भी तैयार रहने को कहा गया है। एनसीएमसी ने आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुडुचेरी के मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक कर चक्रवात निवार के संबंध में तैयारियों की समीक्षा की।
-कल से अब तक चेन्नई में हुई 120 एमएम बारिश
चक्रवाती तूफान निवार के चलते चेन्नई के कई हिस्सों में बारिश शुरू हो गई है। मौसम विभाग के अनुसार, कल सुबह 8.30 बजे से लेकर आज सुबह 5.30 बजे तक चेन्नई/मीनांबक्कम में 120 एमएम बारिश हुई है।

Share The News

Get latest news on Whatsapp or Telegram.