प्रधानमंत्री मोदी ने कहा-लेह-लद्दाख की लाइफलाइन बनेगी ‘अटल टनल’

धानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘अटल टनल’ लेह-लद्दाख की लाइफलाइन साबित होगी। उन्होंने रिकार्ड समय में किए गए इसके निर्माण उल्‍लेख करते हुए कहा कि हमने मात्र छह साल में दुनिया की सबसे लंबी सुरंग तैयार करवा दिया। अगर देश में UPA सरकार होती तो इस छह साल के काम को 26 साल में करवाती। वह हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में मनाली-लेह मार्ग पर सामरिक महत्व की 9.02 किलोमीटर लंबी अटल टनल रोहतांग का शनिवार को लोकार्पण करने के बाद संबोधित कर रहे थे।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है। इस टनल से मनाली और केलांग के बीच की दूरी 3-4 घंटे कम हो ही जाएगी। पहाड़ के मेरे भाई-बहन समझ सकते हैं कि पहाड़ पर 3-4 घंटे की दूरी कम होने का मतलब क्या होता है। अक्सर लोकार्पण की चकाचौंध में वे लोग कहीं पीछे रह जाते हैं, जिनके परिश्रम से ये सब संभव हुआ है। इस महायज्ञ में अपना पसीना बहाने वाले,  अपनी जान जोखिम में डालने वाले,  मेहनतकश जवानों,  इंजीनियरों और मजदूर भाई बहनों को मैं नमन करता हूं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अटल टनल लेह-लद्दाख की लाइफलाइन बनेगी। लेह-लद्दाख के किसानों, बागवानों और युवाओं के लिए भी अब देश की राजधानी दिल्ली और दूसरे बाजारों तक पहुंच आसान हो जाएगी। पीएम मोदी ने कहा कि आज सिर्फ अटल जी का ही सपना पूरा नहीं हुआ है बल्कि आज इस टनल के उद्घाटन के साथ ही हिमाचल प्रदेश के करोड़ों लोगों का दशकों पुराना इंतजार खत्म हुआ है। मेरा सौभाग्य है कि मुझे इस टनल के लोकार्पण का अवसर मिला।  उन्होंने कहा कि जब विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ़ना हो और देश के लोगों के विकास की प्रबल इच्छा हो तो विकास की रफ्तार को बढ़ाना ही होता है। अटल टनल के काम में भी 2014 के बाद अभूतपूर्व तेजी दिखाई गई है।

Read Also  किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सरकार ने किए ये 11 बड़े ऐलान

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वाजपेयी सरकार जाने के बाद यूपीए सरकार ने इस प्रोजेक्‍ट को ठंडे बस्‍ते में डाल दिया। उन्‍होंने कहा, “साल 2002 में अटल जी ने इस टनल के लिए अप्रोच रोड का शिलान्यास किया था। अटल जी की सरकार जाने के बाद, जैसे इस काम को भी भुला दिया गया। हालात ये थे कि साल 2013-14 तक टनल के लिए सिर्फ 1300 मीटर का काम हो पाया था। एक्सपर्ट बताते हैं कि जिस रफ्तार से 2014 में अटल टनल का काम हो रहा था, अगर उसी रफ्तार से काम चला होता तो ये सुरंग साल 2040 में जाकर पूरा हो पाती। आपकी आज जो उम्र है, उसमें 20 वर्ष और जोड़ लीजिए, तब जाकर लोगों के जीवन में ये दिन आता, उनका सपना पूरा होता।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, हमारी सरकार के फैसले साक्षी हैं कि जो कहते हैं, वो करके दिखाते हैं। देश ने लंबे समय तक वो दौर भी देखा है जब देश के रक्षा हितों के साथ समझौता किया गया, लेकिन हमारी सरकार देश की रक्षा के साथ कोई समझौता नहीं करती है।

इस मौके पर रोहतांग में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सीमा सड़क संगठन ने निर्माण की अनुमानित लागत के भीतर अटल सुरंग का निर्माण पूरा किया। यह सुरंग हमारी सीमाओं की रक्षा करने वाले सैनिकों और सीमावर्ती क्षेत्रों के आसपास रहने वालों को समर्पित है।

इस दौरान हिमाचल प्रदेश के सीएम जय राम ठाकुर ने कहा कि 10,040 फीट की ऊंचाई पर इस सुरंग के निर्माण के बाद एक छोटे से राज्य हिमाचल प्रदेश को न केवल राष्ट्र में बल्कि पूरे विश्व में मान्यता मिली है। इतनी ऊंचाई की अभी तक कोई और सुरंग नहीं है।

Share The News

Get latest news on Whatsapp or Telegram.

   

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of