सुप्रीम कोर्ट ने नोटबंदी को सही ठहराया

Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (1)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (1)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (2)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (2)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (3)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (3)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (4)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (4)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (5)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (5)
previous arrow
next arrow

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने अपनी मुहर लगा दी है। पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने चार-एक के बहुमत से दिए फैसले में कहा है कि नोटबंदी की प्रक्रिया में कोई कानूनी खामी नहीं थी। इसलिए नोटबंदी की घोषणा करने वाली आठ नवंबर, 2016 की अधिसूचना रद करने लायक नहीं है। जस्टिस बीवी नागरत्ना ने बहुमत से असहमति व्यक्त करते हुए अलग से दिए फैसले में कहा कि नोटबंदी का फैसला राष्ट्र की बेहतरी के उद्देश्य से लिया गया था। लेकिन, कानूनी आधार पर इसकी प्रक्रिया दूषित थी। नोटबंदी की प्रक्रिया को कानून सम्मत ठहराने वाला सुप्रीम कोर्ट का बहुमत का फैसला सरकार के लिए बड़ी राहत देने वाला है, जो नोटबंदी के बाद से विपक्षी दलों के निशाने पर थी।

 

 

सोमवार को जस्टिस एस अब्दुल नजीर, बीआर गवई, एएस बोपन्न्ा, वी. रामासुब्रमण्यम और बीवी नागरत्ना की पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने नोटबंदी को चुनौती देने वाली 58 याचिकाओं पर यह ऐतिहासिक फैसला सुनाया। चार न्यायाधीशों की ओर से बहुमत के फैसले में हर उस बिंदु को खारिज कर दिया गया, जिस पर कुछ लोग सवाल खड़े कर रहे थे। बहुमत का फैसला सुनाते हुए जस्टिस बीआर गवई ने कहा कि 500 और 1000 के नोट को प्रतिबंधित करने की अधिसूचना वैध थी।

 

 

 

केंद्र सरकार को सभी सिरीज के नोटों को प्रतिबंधित करने का अधिकार है। पूर्व में दो मौकों पर कानून के जरिये नोटबंदी हुई थी। सिर्फ इस आधार पर यह नहीं कहा जा सकता कि केंद्र सरकार को रिजर्व बैंक आफ इंडिया (आरबीआई) की धारा 26 की उप धारा 2 में नोटबंदी की शक्ति नहीं है। कोर्ट ने कहा कि नोटबंदी के लिए सरकार और आरबीआइ के बीच छह महीने से संवाद चल रहा था। आर्थिक नीति के मामलों में न्यायिक समीक्षा का दायरा सीमित होता है। आर्थिक नीति के मामलों में बहुत संयम बरतना पड़ता है।

Read Also  चार्टर्ड फ्लाइट से वापस बुलाए 200 से ज्यादा कर्मचारी - इंफोसिस

 

 

बहुमत की पीठ ने कानूनी सवालों का उत्तर देते हुए मामले को प्रधान न्यायाधीश के समक्ष पेश करने का रजिस्ट्री को निर्देश दिया है, ताकि याचिकाओं को उचित पीठों के समक्ष सुनवाई पर लगाया जा सके। जस्टिस गवई ने स्वयं, जस्टिस नजीर, जस्टिस बोपन्ना और जस्टिस रामासुब्रमण्यम की ओर से फैसला सुनाया। जस्टिस बीवी नागरत्ना ने अलग से असहमति का फैसला दिया।

 

क्या है मामला
आठ नवंबर 2016 को सरकार ने 500 और 1000 के नोटों को बंद करने की घोषण्ाा की थी। नोटबंदी की इस घोषणा पर व्यापक प्रतिक्रिया हुई थी। विभिन्न् हाई कोर्टों और सुप्रीम कोर्ट में याचिकाएं दाखिल कर नोटबंदी को चुनौती दी गई। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने सभी उच्च न्यायालयों में लंबित मामले अपने यहां स्थानांतरित कर लिए थे। सुप्रीम कोर्ट में 58 याचिकाएं लंबित थीं, जिनमें नोटबंदी को चुनौती दी गई थी।

 

सरकार ने यह बताया था उद्देश्य
नोटबंदी के पीछे सरकार का उद्देश्य था कि काले धन पर लगाम लगे। काले धन और हवाला कारोबार के जरिये पनप रही आतंकी गतिविधियों पर लगाम लगे। कैश्ालेस इकोनमी को बढ़ावा मिले और नकली करेंसी पर लगाम लगे। सरकार को अपने उद्देश्यों में काफी कुछ सफलता भी मिली है। देश्ा में कैशलेस लेनदेन का चलन बढ़ा है। अब दुनिया का 40 प्रतिशत डिजिटल लेनदेन भारत में होता है।

 

कब क्या हुआ
आठ नवंबर, 2016 : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए 500 और 1,000 रुपये के नोटों को चलन से बाहर किए जाने का एलान किया।
नौ नवंबर, 2016 : सरकार के इस फैसले को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई।
28 सितंबर, 2022 : सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में न्यायमूर्ति एसए नजीर की अध्यक्षता में संविधान पीठ का गठन किया।
सात दिसंबर, 2022 : सुप्रीम कोर्ट ने नोटबंदी को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर फैसला सुरक्षित रखा।
दो जनवरी, 2023 : संविधान पीठ ने नोटबंदी के फैसले को 4:1 के बहुमत से सही ठहराया। कहा कि नोटबंदी की निर्णय प्रक्रिया दोषपूर्ण नहीं थी।

Read Also  मार्च में 11 दिन नहीं खुलेंगे बैंक, तारीख देखकर निपटाएं जरूरी काम

 

 

छह साल बाद फैसले के मायने
पिछले छह वर्षों में इकोनमी और समाज नोटबंदी के झटके से उबर चुका है। इसलिए विश्ोषज्ञों की नजरों में सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला महज एक अकादमिक कवायद है। पिछले साल नवंबर-दिसंबर में सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने कहा था कि वह नोटबंदी के फैसले को खारिज नहीं करेगी, क्योंकि घड़ी की सुई को पीछे की तरफ नहीं मोड़ा जा सकता है। लेकिन, इस पर किए जाने तर्क-वितर्क से भविष्य में ऐसे फैसलों के लिए आधार तैयार हो सकता है।

Share The News


CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 


imam

मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, वह दिन जल्‍द पाकिस्‍तान, अफगानिस्तान व बांग्लादेश का भारत में होगा विलय

By Reporter 1 / February 2, 2023 / 0 Comments
महर्षि दयानंद सरस्वती के द्वितीय जन्म शताब्दी पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय सर्वधर्म सम्मेलन में विभिन्न् धर्मों के धर्मगुरुओं ने अखंड भारत पर जोर दिया। मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा कि भारत ही एक ऐसा देश है जिसमें सभी धर्मों को सम्मान मिलता...

अब बलोदा बाजार में हुआ तबादला, आदेश जारी

By Reporter 5 / February 1, 2023 / 0 Comments
    बलौदाबाजार भाटापारा। जिले में बड़ी संख्या में पुलिस विभाग में तबादला किया गया है। एसएसपी दीपक कुमार झा ने 39 पुलिसकर्मियों का ट्रांसफर किया है। इसमें 6 सहायक उप निरीक्षक, 3 प्रधान आरक्षक और 30 आरक्षक शामिल है।
IMG 20230201 WA0030

बड़ी खबर: 120 वर्ग मीटर के आवासीय निर्माण वालों के लिए अच्छी खबर, इनका होगा निशुल्क नियमतीकरण 

By Reporter 5 / February 1, 2023 / 0 Comments
   पार्किंग एरिया 50 से 25 प्रतिशत किया गया       रायपुर। रायपुर नगर निगम के द्वारा आज गैर अनुमति से निर्मित आवासों के नियमतीकरण को लेकर समीक्षा बैठक ली। उन्होंने निर्देश दिए कि नोटिस देकर जल्द से जल्द...

विस्तारा एयरलाइन की विमान में नशे में धुत महिला ने उतारा कपड़ा

By Reporter 1 / February 1, 2023 / 0 Comments
विमान में हंगामे का मामला थमता नहीं दिख रहा है। अब विस्तारा की विमान में अभद्रता का मामला सामने आया है। अबू धाबी से मुंबई आ रही फ्लाइट (यूके-256) में इटली की महिला पाओला पेरुशियो ने केबिन क्रू से मारपीट...
927911 uttarakhand bjp

दुर्ग: भाजपा जिलाअध्यक्ष ब्रिचपुरिया ने की कार्यकारिणी की घोषणा

By Reporter 5 / February 3, 2023 / 0 Comments
भाजपा जिलाअध्यक्ष की नई कार्यकारिणी की घोषणा जयप्रकाश यादव जिला मंत्री कुम्हारी मण्डल अध्यक्ष राजू निषाद चरोद मण्डल अध्यक्ष सुषमा जेठानी निषाद     भिलाई। भाजपा अध्यक्ष ब्रिचपुरिया ने कार्यकारिणी की घोषणा की है। जारी लिस्ट में जिला अध्यक्ष, मंडल...

कोलकाता में 10 लाख के जाली नोट के साथ दो गिरफ्तार

By Reporter 1 / February 1, 2023 / 0 Comments
कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने मैदान थाना क्षेत्र में छापेमारी कर 10 लाख रुपये के जाली नोट बरामद किए हैं। एसटीएफ इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। उनके नाम अब्दुल रज्जाक खान और शहर...
Shiv Thakare

BIGG BOSS 16 :क्या फिनाले के पहले कट जाएगा शिव ठाकरे का पत्ता

By Sub Editor / February 3, 2023 / 0 Comments
सलमान खान का धमाकेदार शो 'बिग बॉस 16' इन दिनों काफी सुर्खियों में बना हुआ है। हाल ही में 'बिग बॉस 16' को लेकर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि शिव ठाकरे फिनाले से पहले घर से बेघर हो...
IMG 20230201 WA0015

बजट में मिडल क्‍लास की लॉटरी लगी, 7 लाख तक इनकम टैक्‍स नहीं, नए रेट देखिए

By Reporter 5 / February 1, 2023 / 0 Comments
  पब्लिक को बजट 2023-24 में इनकम टैक्‍स पर बड़ी राहत मिली है वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आयकर स्‍लैब में बदलाव किए हैं   नई दिल्‍ली। बजट 2023 में मिडल क्‍लास की बल्‍ले-बल्‍ले हो गई है। इनकम टैक्‍स में...
bbc

मोदी को बदनाम करने और चीन का लाभ पहुंचाने को बीबीसी और हुआवे ने मिलाया हाथ

By Reporter 1 / February 3, 2023 / 0 Comments
ब्रिटेन के सार्वजनिक प्रसारण निगम बीबीसी और तकनीक क्षेत्र की दिग्गज चीनी कंपनी हुआवे के बीच धन लेकर हितों के अनुरूप प्रचार का अपवित्र समझौता हुआ है। बीबीसी ने यह समझौता बढ़ते खर्च और सरकार की ओर से सहायता में...

BIRTHDAY SPL:जयकिशन काकूभाई से बने जैकी श्रॉफ,66 साल के हुए अभिनेता

By Sub Editor / February 1, 2023 / 0 Comments
बॉलीवुड के भिड़ू कहे जाने वाले जैकी श्रॉफ फिल्मी दुनिया के एक उम्दा अभिनेता हैं. उन्होंने अपने करियर में ‘हीरो’, ‘राम लखन’ और ‘अल्लाह रक्खा’ जैसी कई शानदार फिल्मों में काम किया है और लोगों के ऊपर अपनी शानदार अदाकारी...