आत्म निर्भर, आत्म सम्मान,सामर्थ्य और भारत

आप कितनी भी आदर्श बातें करलें मगर दुनिया उसी का सम्मान करती है जो समर्थ हो, मजबूत हो। कमजोर को मिलती है तो सिर्फ सहानभूति। बहुत कम लोग होते है …

Read More