अमरनाथ यात्रा में 26 साल पहले हुई त्रासदी का सबक भूलने की है कीमत

श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा के पास बादल फटने से हुई तबाही को 26 साल पहले हुई त्रासदी का सबक भूलने की कीमत चुकानी पड़ी हैा दरअसल, 26 साल पहले अगस्त 1996 में हुई उस त्रासदी में करीब 242 श्रद्धालुओं ने अपनी जान गंवाई थी। इस त्रासदी में मरने वालों की संख्या भले ही उससे कहीं कम है, लेकिन इसने तीर्थयात्रा को पूरी तरह सुरक्षित और प्राकृतिक आपदा से निपटने की तैयारियों के सरकारी दावों की पोल खोलने के साथ यह साबित कर दिया है कि नीतिश सेन कमेटी की सिफारिशों की उपेक्षा किसी भी समय समय पर त्रासदी का कारण बन सकती है।

 

1996 में पवित्र गुफा के पास और यात्रा मार्ग पर ग्लेशियर फटने, भूस्खलन होने से करीब 242 लोगों की मौत हुई थी। इनमें श्रद्धालुओं के साथ कई स्थानीय सेवा प्रदात्ता भी थे। वर्ष 1996 में सरकार को सिर्फ 70 हजार से एक लाख तक श्रद्धालुओं के आगमन की उम्मीद थी। यह सही है कि उस समय यात्रा मार्ग मौजूदा यात्रा मार्ग की तरह सुविधाजनक नहीं था। उम्मीद से ज्यादा श्रद्धालुओं का आना और मोसम का अचानक बिगड़ जाना ही त्रासदी का कारण बना था।

 

वर्ष 1996 में हुई त्रासदी के बाद गठित नीतिश सेन समिति ने अपनी रिपोर्ट में तत्कालीन यात्रा प्रबंधन पर कई सवाल उठाए थे। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में लिखा था कि पवित्र गुफा के दोनों यात्रा मार्गाें की भौगोलिक परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए सात हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं को एक दिन में नहीं भेजा जाना चाहिए। दोनों रास्तों से 3500-3500 श्रद्धालुओं को ही भेजने की सिफारिश की गई थी। उन्होंने यात्रा में श्रद्धालुओं की संख्या करीब एक लाख तक सीमित रखने को कहा था और यात्रा वधि 30 दिन तय की थी। उस समय श्राइन बोर्ड नहीं था। श्राइन बोर्ड का गठन वर्ष 2000 में हुआ है।

Read Also  इन फूलों को नवरात्र के नौ दिनों में चढ़ाने से होती है माता प्रसन्न होगी मनोकामनाएं पूरी

 

कालांतर यात्रा का स्वरूप और सुविधांए बदली हैं। नीतिश सेन रिपोर्ट की सिफारिशों के विपरीत आज इस यात्रा में रोजाना 10 हजार से ज्यादा श्रद्धालु दोनों यात्रा मार्गाें से पवित्र गुफा के लिए जा रहे हैं। पिछले कुछ वर्षाें के दौरान यात्रा के दौरान किसी दिन यह संख्या 20 हजार भी रही है। इसके अलावा हेलीकाप्टर का प्रयोग भी लगातार बढ़ रहा है। पवित्र गुफा समेत पूरे यात्रा मार्ग पर श्रद्धालुओं की सुविधा के नाम पर विभिन्न प्रकार के निर्माण भी हुए हैं। सुविधाओं के आधार पर यात्रियों की संख्या प्रतिदिन 15 हजार तय की गई है।

 

यात्रा से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि बालटाल से पवित्र गुफा की तरफ जाने वाले रास्ते पर आप किसी भी समय नजर दौड़ाओ तो आपको एक जुलूस नजर आएगा। कई जगह रास्ता सिर्फ एक ही व्यक्ति के गुजरने लायक होता है और ऐसे हालात में यात्र रोके जाने पर स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है।

 

इस बीच, पवित्र गुफा से लौटे एक श्रद्धालु नरेश कुमार ने बताया कि मैने आज की त्रासदी का वीडियो देखा है। इसमें बरबाद हुए कई तंबु और लंगर जिस जगह स्थापित थे, वहां नहीं होने चाहिए थे। प्रशासन ने उन्हें एक नाले के पास स्थापित कैसे करने दिया,यह समझ से परे है। यह तो बाबा बर्फानी की मेहरबानी ही है जो बाढ़ चंद मिनट तक रही,अन्यथा नुक्सान बहुत ज्यादा होना था।

 

कश्मीर से संबधित एक पर्यावरणविद्ध ने कहा कि यात्रा मार्ग और पवित्र गुफा की भौगोलिक परिस्थितियों और पर्यावरण से खिलवाड़ महंगा साबित हो रहा है। पवित्र गुफा और यात्रा मार्ग पर कई ग्लेशियर सिकुड़ चुके हैं या फिर लापता हो चुके हैं। उन्होंने कह कि मरने वालों की संख्या 13 नहीं 1300 हो सकती थी,अगर समय रहते बचाव कार्य के लिए वहां राहत कर्मी मौजूद न होते। यह स्थिति क्यों आए,इस पर विचार करना चाहिए।

Share The News


CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 


अरुण साव को बनाया भाजपा प्रदेश अध्यक्ष

By Rakesh Soni / August 9, 2022 / 0 Comments
रायपुर। भाजपा ने बड़ा परिवर्तन किया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बिलासपुर के सांसद अरूण साव को छत्तीसगढ़ का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है। इस संबंध में राष्ट्रीय महासचिव अरूण सिंह ने आदेश जारी किया है। अरुण...

Ekhabri विशेष: 11 अगस्त को भद्रा समाप्त होने के बाद बांधी जाएगी राखी, 12 को दिनभर बांध सकते हैं राखी

By Reporter 5 / August 8, 2022 / 0 Comments
रायपुर। राखी बंधने को लेकर कई तरह की बात सामने आ रही है। पंचांग अलग अलग होने के कारण पंडित भी अलग-अलग तर्क देरहे हैं। कुछ 11 तारीख को रक्षाबंधन को सही बता रहे हैं तो कुछ भद्रा होने के...

बिजली बिल हाफ पर अब लाभ की पर्ची:बिल के साथ स्लिप देकर बताया जा रहा कितनी छूट दी गई

By Rakesh Soni / August 7, 2022 / 0 Comments
  रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी ने बिजली बिल हाफ योजना पर नया दांव खेला है। बिजली कंपनी जुलाई महीने के बिल के साथ एक अलग पर्ची भी दे रही है। इसमें बताया जा रहा है कि बिजली बिल...

बोल बम…सीएम निकले कांवड़ यात्रा पर

By Rakesh Soni / August 5, 2022 / 0 Comments
रायपुर पश्चिम विधानसभा के विधायक विकास उपाध्याय की तरफ से आयोजित कांवड़ यात्रा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी शामिल हुए। गुढिय़ारी स्थित मारुति मंगलम शुरू कांवड़ यात्रा प्रारंभ हुई। यहां मुख्यमंत्री ने मच्छी तालाब हनुमान मंदिर में पूजा-अर्चना कर प्रदेश...

जानिए क्यों छत्तीसगढ़ में बहनें देती हैं भाइयों को मरने का श्राप

By Rakesh Soni / August 8, 2022 / 0 Comments
रायपुर। भारत अपने अलग-अलग त्योहरों और रीति रिवाजों के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। इन्हीं त्योहारों में शामिल है रक्षाबंधन जो सावन महीने की पूर्णिमा को मनाया जाता है। यह त्योहार भाई-बहन के पवित्र रिश्ते को दर्शाता है।...

धरना दे रहे कांग्रेसियों की जेब काटी, नेता के जेब से 50 हजार ले उड़े चोर

By Rakesh Soni / August 5, 2022 / 0 Comments
रायपुर। रायपुर में शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन करने जुटे कांग्रेसी नेता चोरी की वारदात का शिकार हो गए। बताया जा रहा है कि कई नेताओं के सामान भीड़ में इधर-उधर हो गए। कुछ नेताओं के साथ हुई घटना से साफ...

डायबिटीज को नियंत्रित करने में सहायक हो सकता है एक्यूपंक्चर

By Reporter 1 / August 4, 2022 / 0 Comments
शरीर जब सही तरीके से रक्त में मौजूद ग्लुकोज या शुगर का उपयोग नहीं कर पाता तब व्यक्ति में डायबिटीज की समस्या आती है। यह भारत सहित दुनियाभर में आम बीमारी है। एक ताजा अध्ययन में इसे नियंत्रित करने में...

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग द्वारा बड़े पैमाने में भर्ती निकली

By Reporter 5 / August 4, 2022 / 0 Comments
रायपुर। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग द्वारा बड़े पैमाने में भर्ती की जा रही है। भृत्य के कुल 91 पदों में सीधी भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया गया है। इन पदों की प्रथम चरण की लिखित परीक्षा रविवार 25 सितंबर...

ब्लैक कोबरा फैमिली कार में बैठकर पहुंची जंगल, :रायपुर में 14 कोबरा का किया गया रेस्क्यू

By Rakesh Soni / August 5, 2022 / 0 Comments
 सपेरों की रेस्क्यू टीम के साथ झड़प रायपुर। रायपुर के कई गली मोहल्लों में सांप की नुमाइश कर पैसे कमाते कुछ लोग दिख जाते हैं। दरअसल वन अधिनियम के तहत ऐसा किया जाना गैरकानूनी है। अब ऐसे लोगों के खिलाफ...

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से मिले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

By Rakesh Soni / August 6, 2022 / 0 Comments
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नई दिल्ली प्रवास के दौरान आज नव निर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सौजन्य मुलाक़ात की। इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी और...