अमेरिका ने कहा- भारत हो रहा ताकतवर, एक साथ मिलकर काम करना जरूरी

अमेरिका जैसे दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश ने भी अब मान लिया है कि भारत एक ताकतवर देश बनकर उभर रहा है। उसे भारत के साथ मिलकर काम करने की जरूरत है। यानी अमेरिका क्षेत्रीय और वैश्विक शक्ति के रूप में उभरते भारत का स्वागत किया है। अमेरिका ने यह बात विदेश मंत्रालय के नई दिल्ली में 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक से पहले कहा। उसने यह भी कहा कि भारत के जनवरी 2021 से शुरू हो रहे यूएनएससी के कार्यकाल के दौरान अमेरिका उसके साथ काम करना चाहता है।

गौर हो कि भारत और अमेरिका के बीच नई दिल्ली में प्रस्‍तावित तीसरी 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक से पहले विदेश मंत्रालय ने फैक्ट शीट में कहा, ” भारत के एक क्षेत्रीय व वैश्विक शक्ति बनकर उभरने का अमेरिका स्वागत करता है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत के आगामी कार्यकाल के दौरान अमेरिका उसके साथ निकटता से काम करने को भी उत्सुक है।”

अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ भारतीय समकक्षों क्रमश: राजनाथ सिंह और एस. जयशंकर के साथ 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक करेंगे। अमेरिकी विदेश विभाग ने बताया कि एस्पर और पोम्पिओ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे। इस दौरान अमेरिका-भारत व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने के बारे में सरकारी और कारोबारी जगत के अगुआओं से भी बात करेंगे। विदेश मंत्रालय ने अपने फैक्ट शीट में कहा कि दोनों देशों के बीच साझा मूल्यों और स्वतंत्र एवं मुक्त हिंद-प्रशांत के लिए प्रतिबद्धता पर निर्मित मजबूत तथा बढ़ते द्विपक्षीय संबंध हैं।

भारत और अमेरिकी के बीच मजबूत हो रहे रिश्तों के मायने तलाशते हुए चीन ने कहा कि भारत की राष्ट्रीय ताकत बढ़ रही है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी उसकी स्थिति मजबूत हो रही है। हालांकि, उसने यह भी कहा कि अमेरिका की ताकत घट रही है और उभरता हुआ भारत इस स्थिति का पूरा फायदा उठाने की कोशिश करेगा।

Read Also  Wifi के Low सिग्नल से बेटे को परेशान देख पिता ने छत पर बनाया 'Eiffel Tower'

चीन सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने भारत और अमेरिका के बीच होने जा रही है 2+2 बैठक और संभावित बेसिक एक्सचेंज एंड कोऑपरेशन अग्रीमेंट (BECA) को लेकर विस्तार से लेख छापा है। फुदान यूनिवर्सिटी में साउथ एशियन स्टडीज सेंटर के डायरेक्टर और अमेरिकन स्टडीज सेंटर के प्रफेसर झांग जियाडोंग ने कहा है कि अमेरिका और भारत के बीच रिश्ते मजबूत हो रहे हैं और इस बैठक पर ध्यान देने को लेकर चार कारक अहम हैं।

Share The News

Get latest news on Whatsapp or Telegram.