‘बालिका वधू” के निर्देशक अब सब्जी बेचने को मजबूर

‘बालिका वधू”, ‘सुजाता” जैसे कई टीवी सीरियल में डायरेक्टर रह चुके रामवृक्ष गौड़ पर कोरोना काल की ऐसी मार पड़ी कि ठेला पर सब्जी बेचने का मजबूर हो गए हैं। एक समय था जब उनके इशारे पर बड़े-बड़े टीवी कलाकार एक्शन में आ जाते थे।  आज कोरोना के कारण वह संकट के दौर से गुजर रहे हैं।

रामवृक्ष गौड़ मुंबई में रहते हैं, लेकिन पुश्तैनी घर निजामाबाद (आजमगढ़, उप्र) के फरहाबाद गांव में है। इस समय वह आजमगढ़ के हरबंशपुर मोहल्ले में किराए के मकान में रह रहे हैं। होली में वह गांव आए थे। उनका विचार था कि एक भोजपुरी फिल्म की शूटिग में आजमगढ़ के कलाकारों को रखेंगे। इसके लिए  कलाकारों से उनकी बात भी हुई। मगर कोरोना के कारण शूटिंग पर ब्रेक लग गया। रामवृक्ष गौड़ की मानें तो जिले के ही भोजपुरी कलाकार समर सिंह एवं रानी की सराय निवासी लाडो मद्धेशिया से बात हो चुकी थी।

लॉकडाउन में अपने-अपने गांव-जवार में फंसे रामवृक्ष गौड़ जैसे कई टीवी और फिल्म सिटी के असिस्टेंट डायरेक्टर व टेक्नीशियन की आर्थिक मदद सलमान खान एंड कंपनी ने की, लेकिन वह कितने दिन चलती। गौड़ ने बताया कि उनके खाते में भी तीन बार में कुल साढ़े दस हजार रुपये की आर्थिक मदद आई थी। परिवार पालने के लिए वह नाकाफी थी।

डीएम आजमगढ राजेश कुमार ने बताया कि तहसीलदार सदर अनिल कुमार पाठक को उनके किराए के आवास पर भेजा गया था। उनकी आर्थिक सहायता जिला प्रशासन की तरफ से की जाएगी। रामवृक्ष गौड़ इस समय गाजीपुर में एक भोजपुरी फिल्म की शूटिग के संबंध में साथी कलाकारों से चर्चा करने गए हैं। भोजपुरी फिल्म को खुद डायरेक्ट करेंगे।

Share The News
Read Also  'देवदास' रिलीज के हुए 18 साल, माधुरी दीक्षित ने सरोज खान को किया याद

Get latest news on Whatsapp or Telegram.

   

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of