विदेशों में बसे अपने छात्रों से जासूसी करवाता है चालाक चीन

Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (1)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (1)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (2)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (2)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (3)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (3)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (4)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (4)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (5)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (5)
previous arrow
next arrow

नई दिल्ली: चीन ने ये साबित कर दिया है कि वो पूरी दुनिया का नहीं बल्कि इंसानियत का भी दुश्मन है. दुनिया कोरोना से लड़ रही है और चीन भूमाफिया बना हुआ है. दूसरों की जमीन पर उसकी नीयत फिर से खराब हो गई है. चीन खतरनाक मिशन में जुटा हुआ है, ऐसे मिशन जो इंसानियत के लिए बहुत बड़ा खतरा हैं. कहते हैं कि 21वीं सदी में अब युद्ध वो देश जीतेगा जिसके पास सूचनाएं ज्यादा होंगी. ये सूचनाएं या तो वैध तरीके से हासिल हो सकती हैं या अवैध लेकिन चीन जैसा देश कानून पर भरोसा नहीं करता, इसीलिए वो सूचनाएं इक्कठा करने के लिए साम-दाम-दंड-भेद हर नीति अपनाता है. चीन विदेशों में रह रहे अपने देश के नागरिकों और छात्रों को जासूसी करने के लिए बाध्य करता है. चीन के कानून और दबाव में बंधे ये लोग जिस देश में रहते हैं उससे धोखा करने के लिए मजबूर हैं. चीन के छात्रों को उन देशों की जानकारी अपने देश भेजनी होती है. ABP न्यूज के पास चीन के कुछ खुफिया दस्तावेज हैं जो साबित करते हैं कि चीन की सरकार किस तरह अपने लोगों को दूसरे देशों में जासूसी करने पर मजबूर करती है.

दुनिया में साढ़े तीन लाख से ज्यादा लोगों की जान ले चुका कोरोना वायरस इसी चीन से निकला है और इसीलिए चीन पूरी दुनिया के निशाने पर है लेकिन चीन ने अमेरिका सहित पूरी दुनिया का सामना करने की तैयारी बहुत पहले कर ली थी. शायद तब, जब अमेरिका अपने सबसे ज्यादा शक्तिशाली होने के घमंड में चूर था. कहते हैं कि युद्ध गोला बारूद और सैनिकों की संख्या से ज्यादा सूचनाओं से जीते जाते हैं और 21वीं सदी की दुनिया में तो बहुत कुछ बदल गया ह

अब असली युद्ध वो है, जिसमें आप बिना गोली चलाए या किसी की सीमा में दाखिल हुए सामने वाले को चित कर दें और चीन ने ऐसे युद्ध में महारत पाने की तैयारी बहुत पहले कर ली थी. एक दूसरे के खिलाफ जासूसी करवाना शक्तिशाली देशों का पुराना काम रहा है. अमेरिका और रूस एक दूसरे के खिलाफ ऐसी जासूसी दशकों से करवाते आए हैं लेकिन चीन ने जासूसी के लिए ऐसा हथियार चुना है जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता है, ये हथियार हैं चीन के छात्र. क्या अपने छात्रों से जासूसी करवा रहा है चीन? मैंड्रिन यानी चाइनीज भाषा में लिखा एक दस्तावेज इसका सबसे बड़ा सबूत है. ये दस्तावेज चीन की मिनिस्ट्री ऑफ इन्फॉर्मेशन और ब्रॉडकास्टिंग ने वहां के शिक्षा मंत्रालय को लिखा है. ये एक सर्कुलर है जिसमें लिखा गया है कि, ‘विदेश में पढ़ाई करने वाले छात्र कोरोना की वजह से खराब हुई चीन की छवि को ठीक करने का काम करें. इससे जुड़ी जानकारियां उन देशों से चीन की सरकार को भेजें. छात्रों से उनके सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी भी मांगी गई है. ये भी कहा गया है कि लिस्ट पार्टी की एक कोर टीम को दी जाएगी. यानि चीन जासूसी और प्रोपेगैंडा के लिए दूसरे देशों में अपने छात्रों के इस्तेमाल से भी नहीं चूक रहा. चीन को डर है कि उसके खिलाफ माहौल बन रहा है और उसका असली चेहरा सबके सामने आ रहा है. अब ये देखिए कि चीन के किस देश में कितने छात्र हैं? अमेरिका में चीन के 340,000 छात्र हैं, यूनाइटेड किंगडम में चीन के 100,000 छात्र हैं, कनाडा में 143,000 छात्र हैं और भारत में चीन के सिर्फ 106 छात्र हैं. अमेरिका में चीन के छात्रों की संख्या इसलिए सबसे ज्यादा है, क्योंकि मौजूदा दौर में अमेरिका से ही चीन का सबसे बड़ा मुकाबला है इसीलिए अमेरिका में चीन के सबसे ज्यादा छात्र हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि 2007 में अचानक से अमेरिका में चीन के छात्रों की संख्या में बढ़ोतरी हुई. एक दशक में अमेरिका में 93% छात्र चीन से आ गए. अब हालात ये हैं कि अमेरिका में सबसे ज्यादा विदेशी छात्र चीन के ही हैं और जाहिर सी बात है इनमें से कई छात्र जासूसी में भी शामिल हैं.

Read Also  इसी महीने ने कर लें यह काम, बाद में नहीं मिलेगा समय

चीन में भारत की पूर्व हाई कमिश्नर स्मिता पुरुषोत्तम का कहना है कि चीन अपने छात्रों को बाहर भेजता है, हमारे लोग ऐसा नहीं करते हैं, लेकिन चाइनीज करते हैं. फरवरी 2020 में टेक्सस यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर बो माओ गिरफ्तार हुए उन्होंने एक स्टार्ट अप की तकनीक Huawei को दी थी. इसी तरह से यांक्विंग ये नाम की एक चीनी फौजी अफसर की FBI को तलाश है क्योंकि उसने जब छात्र के तौर पर वीजा के लिए अप्लाई किया, तो ये नहीं बताया कि वो फौजी है. 2019 में ही शिकागो में एक चीनी छात्र गिरफ्तार हुआ, जो अपने देश की खुफिया एजेंसी के लिए जासूसों की भर्ती कर रहा था. अमेरिका से चीनी रिसर्च, शोध, आविष्कार और ट्रेड सीक्रेट चुरा रहे हैं. अमेरिकी जांच एजेंसी FBI 1000 से ज्यादा चीनियों के खिलाफ ऐसे मामलों की जांच कर रही है.

एक अनुमान के मुताबिक अमेरिका को चीन की जासूसी से 3782 करोड़ का नुकसान होता है. अमेरिका में छात्र बनकर जासूसी करने या इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी चुराने का सबसे बड़ा उदाहरण है रूपेंग लियु, इन्हें चीन का इलॉन मस्क कहा जाता है सिर्फ 36 साल की उम्र में लियु चीन के अरबपति हैं. लियु की कंपनी लोगों को अंतरिक्ष में भेजने पर काम कर रही है और वो भविष्य की तकनीक पर रिसर्च कर रहे हैं. लेकिन लियु पर अमेरिका के एक मशहूर वैज्ञानिक डेविड स्मिथ की इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी चुराने का आरोप है. डॉक्टर स्मिथ ड्यूक यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर और वैज्ञानिक हैं. लियू 2006 में डॉक्टर स्मिथ का स्टूडेंट बनकर अमेरिका आया था, डॉक्टर स्मिथ अदृश्य हो जाने वाले एक लबादे पर रिसर्च कर रहे थे. कुछ इसी तरह जैसा कि हैरी पॉटर फिल्म में दिखाया गया है, डॉक्टर स्मिथ की रिसर्च के लिए अमेरिकन मिलिट्री ने फंडिंग की थी. एक दिन जब लैब में डॉक्टर स्मिथ नहीं थे, तब लियु ने अपने साथियों के साथ लैब की फोटो खींची, वहां क्या क्या रिसर्च हो रही है, इसकी जानकारी ली अलग अलग उपकरणों को मापा और ये सारी जानकारियां चीन भेज दिया. दावा है कि इसके बाद लियु ने भी चीन जाकर ऐसा ही अदृश्य लबादा बना लिया. यानि चीन अपने छात्रों के माध्यम से ऐसा करवा रहा है लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि चीन का हर छात्र जासूस है. बहुत से छात्र चीन की पाबंदियों की वजह से विदेशों में पढ़ने को मजबूर हैं लेकिन ये बात सही है कि चीन अपने लोगों से जानकारियां इक्कठा करवाता है, चीन ने बाकायदा इसके लिए कानून बनाया हुआ है.

Share The News


CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 


नमाजियों के सामने रिटायर्ड फौजी ने किया मंत्रोच्चार:ट्रेन के डिब्बे में रास्ता रोका, कहा- मैं भी नहीं हटूंगा

By Rakesh Soni / November 22, 2022 / 0 Comments
दिल्ली से आ रही स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस ट्रेन में नमाज पढ़ने को लेकर हुए विवाद में रिटायर्ड आर्मी जवान की पिटाई का मामला सामने आया है। पूर्व सैनिक ने ट्रेन के गलियारे में नमाज पढ़ रहे लोगों से रास्ता मांगते...

छत्तीसगढ़ी सिंगर मोनिका खुरसैल का निधन

By Reporter 5 / November 23, 2022 / 0 Comments
रायपुर। छत्तीसगढ़ी सिंगर मोनिका खुरसैल का आज निधन हो गया। ब्रेन हेमरेज की वजह से मोनिका की वजह से उनकी मौत हुई। आज रायुपर के एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान उन्होंने अंतिम सांस ली। इसकी जानकारी सामाजिक कार्यकर्ता...

बड़े पैमाने में पटवारियों का तबादला, देखिए लिस्ट

By Reporter 5 / November 23, 2022 / 0 Comments
रायपुर। बड़े पैमाने पर पटवारियों का तबादला आदेश जारी किया गया है। लिस्ट के अनुसार 64 पटवारियों का तबादला किया है। जिले में लम्बे समय से एक ही जगह पर पदस्थ पटवारियों का किया तबादला किया गया है। देखें लिस्ट:

हिंदुओं से अलग धर्म चाहते हैं 50 लाख लोग:सरना को अलग धर्म बनाने की मांग

By Rakesh Soni / November 26, 2022 / 0 Comments
पटना -पटना के गांधी मैदान में शुक्रवार को 5 राज्यों के 10 हजार से ज्यादा लोग जमा हुए। इनकी एक ही मांग थी कि भारत सरकार ‘सरना धर्म कोड’ को लागू करे। इसका मतलब ये हुआ कि अगले जनगणना फॉर्म...

राजस्व निरीक्षको का बड़े पैमाने में हुआ ट्रांसफर

By Reporter 5 / November 24, 2022 / 0 Comments
रायपुर। रायपुर जिले में राजस्व निरीक्षक का ट्रांसफर किया गया है। जारी ट्रांसफर आदेश में 28 राजस्व निरीक्षक का नाम शामिल है। आदेश कलेक्टर के हस्ताक्षर:

छत्‍तीसगढ़ के जशपुर की रिया बनी मिस इंडिया

By Reporter 1 / November 23, 2022 / 0 Comments
छत्तीसगढ़ के पिछड़े और आदिवासी बाहुल्य जिला जशपुर की आदिवासी छात्रा रिया एक्का ने भिलाई में आयोजित ग्लैमर इवेंट में मिस इंडिया का खिताब हासिल की है। बिलासपुर में रहकर कालेज की पढ़ाई कर रही रिया ने 50 प्रतिभागियों को...

परमाणु हादसे से बाल-बाल बचा यूक्रेन

By Reporter 1 / November 22, 2022 / 0 Comments
यूक्रेन के जोपीरीजिया परमाणु संयंत्र परिसर में शनिवार रात और रविवार सुबह हुई गोलाबारी में बड़ा परमाणु हादसा होने से बच गया। परिसर में गिरे 12 गोलों में से कई रिएक्टर भवन के बिल्कुल नजदीक गिरे। एक गोला रेडियोएक्टिव कचरे...

विप्रो और ओएनजीसी से ज्यादा अमीर है तिरुपति का मंदिर

By Reporter 1 / November 25, 2022 / 0 Comments
तिरुपति के विश्व प्रसिद्ध् भगवान वेंकटेश मंदिर की कुल संपत्ति 2.5 लाख करोड़ रुपये (लगभग 30 अरब डालर) से अधिक है। यह संपत्ति सूचना-प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनी विप्रो, खाद्य और पेय पदार्थ बनाने वाली कंपनी नेस्ले, तेल और गैस क्षेत्र की...

पुलिस विभाग में बड़े पैमाने में हुआ फेरबदल, तबादला लिस्ट जारी

By Reporter 5 / November 23, 2022 / 0 Comments
महासमुंद। महासमुंद जिले में पुलिस विभाग में बड़े पैमाने में फेरबदल हुआ है। विभाग द्वारा बड़े पैमाने में तबादला किया गया है। थाना प्रभारी, एसआई, एएसआई सहित प्रधान आरक्षकों समेत 64 पुलिसकर्मियों का तबादला किया गया है। महासमुंद एसपी भेजराम...

राज्य लोक सेवा आयोग ने सिविल सर्विस परीक्षा की अधिसूचना जारी की

By Reporter 5 / November 26, 2022 / 0 Comments
रायपुर। राज्य लोक सेवा आयोग ने सिविल सर्विस परीक्षा की अधिसूचना जारी कर दी है। जारी अधिसूचना के अनुसार बड़ी मात्रा में इस बार वैकेंसी निकली है।189 पदों पर होने वाली परीक्षा के लिए सबसे ज्यादा पद नायब तहसीलदार के...