सोने के हर जेवर की जानकारी पोर्टल पर देने की तैयारी


हालमार्क यूनीक आइडेंटीफिकेशन (एचयूआइडी) अब लोगों के पास मौजूद जेवरों की जानकारी जल्द आनलाइन उपलब्ध कराने की दिशा में काम कर रहा है। इसके लिए ट्रांसफर पोर्टल के विस्तार की योजना बनाई जा रही है। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने हालमार्क कमेटी के सभी सदस्यों से 30 मई तक इस पर सुझाव मांगे हैं।


मंत्रालय ने पिछले वर्ष हालमार्क को अनिवार्य किया था। अब तक 256 जिलों में इसे लागू किया जा चुका है। अब मंत्रालय ने हालमार्क समिति में जोड़े गए सभी सदस्यों को पत्र भेजकर हालमार्क यूआइडी ट्रांसफर पोर्टल पर हर जेवर की बिक्री की जानकारी रखने का निर्देश दिया गया है। कारोबारियों के मुताबिक, हालमार्क अनिवार्य वाले शहरों में भी पिछले एक वर्ष में बिना हालमार्क के जेवर भी खूब बेचे गए हैं। इसके चलते ही ट्रांसफर पोर्टल की इस नई व्यवस्था पर विचार हो रहा है। इसमें सभी स्तर पर यह जानकारी दी जाएगी कि किसने किसे जेवर बेचा। निर्माता थोक कारोबारी की जानकारी देगा। थोक कारोबारी फुटकर कारोबारी की जानकारी देगा और फुटकर कारोबारी ग्राहक की जानकारी पोर्टल पर देगा। इसका लाभ यह भी होगा कि कारोबारी मुकर नहीं सकेगा कि उसने ग्राहक को जेवर बेचा। कोई भी गड़बड़ी होने पर कार्यवाही हो सकेगी। भारतीय मानक ब्यूरो की हालमार्क कमेटी के सदस्य पंकज अरोड़ा का कहना है कि ग्राहक को जितने कैरेट का और जितने का जेवर बताया गया है, वह उसे पूरी तरह उतने का ही मिले, इसीलिए नई व्यवस्था लागू करने की योजना है।
नियमानुसार दो लाख रुपये तक के जेवर के लिए सराफा कारोबारी कैश ले सकते हैं लेकिन किसी एक एचयूआइडी नंबर का जेवर यदि दो लाख रुपये से अधिक मूल्य का है, तो ऊपर की राशि का भुुगतान इलेक्ट्रानिक माध्यम, चेक, बैंक ड्राफ्ट आदि से लेना होगा। साथ ही बिल में बताना होगा कि दो लाख रुपये नकद लिए गए और बाकी का भुगतान अन्य माध्यम से लिया गया। उस माध्यम की जानकारी भी देनी होगी। अभी बहुत से व्यापारी दो लाख से अधिक राशि का कोई एक जेवर बेचने पर भी पूरा नकद भुगतान ले लेते हैं। 


मंदिर के प्रमाण तलाशने मुस्लिम बनकर मस्जिद में गए थे हिंदू अधिवक्ता
हिंदू अधिवक्ता हरिहर पांडेय ने दावा किया है कि ‘वर्ष 1991 में सितंबर की 20 या 22 तारीख थी। वह  मंदिर के प्रमाण तलाशने मुस्लिम बनकर मस्जिद में गए थे। इसमें उनके कुछ मुस्लिम मित्रों ने सहयोग किया था। उस दिन रात आधी बीत चुकी थी और मेरे मुस्लिम मित्र तीन सेल वाली टार्च और जालीदार टोपी लिए दालमंडी से चौक आने वाली सड़क पर खड़े मेरी प्रतीक्षा कर रहे थे। औरंगाबाद स्थित आवास से मैैं भी निकल चुका था। चौक में उनसे मुलाकात हुई। उन्होंने जरूरी सलाह दी और मैैं किसी डर की परवाह किए बगैर निकल पड़ा ज्ञानवापी की ओर…।” वह कहते हैैं कि 1991 में हमने मंदिर हिंदुओं को सौंपने की मांग करते हुए कोर्ट में याचिका दाखिल की। इसके लिए हमारे पास प्रमाण नहीं थे। प्रमाण जुटाने के लिए योजना बनाई और मस्जिद में जाकर जो देखा, उसे नोट किया। इन्हीं तथ्यों के आधार पर अदालत में वाद दायर किया गया।

Read Also  गृह मंत्री ने इस विभाग से दिया इस्तीफा

यूं तो औरंगजेब के फरमान पर मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाए जाने के बाद से ही सनातन धर्मावलंबी इसे वापस लेने की मांग उठाते रहे, लेकिन आजादी के बाद पहली बार ज्ञानवापी में पूजन-अर्चन का अधिकार वापस पाने के लिए 1991 में अदालत में वाद दाखिल किया गया। हरिहर पांडेय ने बताया कि 30 अक्टूबर, 1990 में कारसेवकों पर गोलियां चली थीं। पूरे देश में गुस्से और अनजान डर का माहौल था। बनारस में भी ज्ञानवापी मस्जिद की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। हम लोगों ने भी सच सामने लाने के लिए मुकदमा दाखिल करने की सोची। तब बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रह चुके दानबहादुर सिंह हमारे वकील थे। उन्होंने कहा कि दावा तो हम ठोक दें पर हमारे पास कोई प्रमाण तो हो…। तब हरिहर पांडेय ने तय किया कि येन-केन प्रकारेण ज्ञानवापी के भीतर नीचे दबे मंदिर वाले हिस्से में जरूर जाएंगे।


पहला सवाल सामने खड़ा था- कैसे जाएंगे? जवाब भी हाजिर- बचपन के मित्र के सहारे। हरिहर पांडेय कहते हैैं कि मेरे आत्मीय मुस्लिम मित्र थे। उनसे ज्ञानवापी में जाने की बात कही तो उन्होंने मना किया। कहा- पकड़े गए तो खैर नहीं..। फिर भी मेरी जिद के आगे उन्हें झुकना पड़ा। उन्होंने कहा, ‘मुस्लिम का वेश्ा धरना होगा। कुरता-पायजामा और जालीदार टोपी। रात में जाना ठीक होगा।” हरिहर पांडेय के मुताबिक, ‘घर से कुर्ता-पायजामा पहनकर निकला था। मुस्लिम मित्र की दी हुई जालीदार टोपी लगा, हाथ में लंबी टार्च लिए सुरक्षा घेरा पार करते हुए रात करीब एक बजे पहुंचा ज्ञानवापी। नीचे दबे मंदिर (तहखाना) में पहुंचा।  

Read Also  Ekhabri updates:गणेशोत्सव के लिए गाइड लाइन जारी, देखिए आदेश


हरिहर पांडेय ने बताया कि नीचे मंदिर की दीवारों पर ही ऊपर स्थित मस्जिद का निर्माण स्पष्ट दिख रहा था। मैैं करीब डेढ़ घंटे वहां रहा और सब कुछ नोट करता रहा। दीवारों पर स्वास्तिक, घंटियों, पान के पत्ते, गणेश, ऐरावत, कलश, त्रिशूल, कमल दल, नक्काशीदार स्तंभ आदि सनातन धर्म के प्रतीक चिह्नों की भरमार थी। विशाल मंदिर की भव्यता उसके ध्वंसावशेष देखकर ही आभासित हो रही थी। उनका कहना है कि हाल ही में कोर्ट में पेश की गई कमीशन रिपोर्ट में जिन आकृतियों के मिलने का उल्लेख है, वह सब सही है। मैैंने भी वह सब देखा है। अदालत वास्तविक तथ्यों के आधार पर शीघ्र इस विवाद का निस्तारण करेगी, विश्वास है।

Share The News


CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 


भिलाई पहुंची तालीबानी सोच, नूपुर शर्मा के समर्थक को जान से मारने की धमकी, घबराया युवक थाने पहुंचा

By Rakesh Soni / July 2, 2022 / 1 Comment
भिलाई। नूपुर शर्मा के पैगंबर के खिलाफ विवादित टिप्पणी के बाद जयपुर में कन्हैय्या लाल की हत्या के बाद तालीबानी भिलाई भी पहुंच गई है। छत्तीसगढ़ में नूपुर शर्मा को सपोर्ट करने पर जान से मारने की धमकी का पहला...

पत्रकार रोहित रंजन को गिरफ्तार करने पहुंची छत्तीसगढ़ पुलिस

By Rakesh Soni / July 5, 2022 / 0 Comments
रायपुर। कांग्रेस पार्टी की शिकायत पर छत्तीसगढ़ पुलिस जी न्यूज के एंकर और पत्रकार रोहित रंजन को गिरफ्तार करने उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले स्थित इंदिरापुरम पहुंच गई है। मुश्किलों में खुद को घिरा देख एंकर ने योगी सरकार और...

बंद का दिखा जबरदस्त असर, व्यवसाइयों ने दिखाया समर्थन

By Reporter 5 / July 3, 2022 / 1 Comment
रायपुर। उदयपुर की घटना का व्यापक असर आज राजधानी समेत छत्तीसगढ़ में देखने को मिला। छत्तीसगढ़ में बंद का जबरदस्त समर्थन किया गया है। पूरे व्यवसायियों ने दुकानें बंद रखी। दुकानों में जड़ा ताला देखकर यह साफ हो गया है...

उदयपुर में कन्हैया टेलर की निर्मम हत्या के विरोध में कांकेर भी संपूर्ण बंद

By Rakesh Soni / July 2, 2022 / 0 Comments
कांकेर। 2 जुलाई को हिंदू संगठनों द्वारा प्रायोजित बंद कांकेर में पूर्णतया सफल दिखाई दिया। जहां बड़ी छोटी दुकानों के अलावा फुटपाथी दुकानें भी बंद की चपेट में रहीं। सवेरे से ही विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता दुकानें बंद करवाने निकल...

13 साल की लड़की से रेप कर बनाया न्यूड वीडियो- ब्लैकमेल कर छह माह तक करता रहा दुष्कर्म

By Rakesh Soni / July 5, 2022 / 1 Comment
रायपुर । बिलासपुर में 13 साल की लड़की का न्यूड वीडियो बनाकर उससे रेप करने वाले युवक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। युवक ने पहले लड़की को ब्लू फिल्म दिखाई और फिर उससे रेप किया। इस दौरान उसका...

 नूपुर के समर्थन में पोस्ट करने पर युवक को धमकी देने वाले 2 आरोपी गिरफ्तार

By Rakesh Soni / July 2, 2022 / 0 Comments
 शिकायत मिलते ही पुलिस ने की कार्रवाई भिलाई। राजस्थान के उदयपुर में नूपुर शर्मा के समर्थन करने पर दर्जी को मौत के घाट उतारे जाने के बाद पूरे देश में हंगामा मचा हुआ है। इस बीच छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले...

उदयपुर हत्याकांड को उचित बताने वाला आनलाइन कंटेंट हटेगा

By Reporter 1 / July 2, 2022 / 0 Comments
केंद्र सरकार ने एक नोटिस जारी कर इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्मों को उदयपुर में दर्जी कन्हैया लाल की निर्मम हत्या को उचित ठहराने, बढ़ावा देने और महिमामंडित करने वाली विषय सामग्री को इंटरनेट से तुरंत हटाने का निर्देश दिया है। उदयपुर...

रायपुर के नए कलेक्टर आज कर सकते हैं ज्वाइन

By Rakesh Soni / July 1, 2022 / 0 Comments
  रायपुर। साल 2011 बैच के आईएएस अफसर डॉ सर्वेश्वर भूरे अब रायपुर के कलेक्टर हैं। शुक्रवार को वो रायपुर में ज्वाइन कर सकते हैं। अब तक रायपुर के कलेक्टर का पद संभाल रहे सौरभ कुमार बिलासपुर कलेक्टर बनाए गए...

सरायपाली में रथयात्रा में 17 साल के लड़के की हत्या

By Rakesh Soni / July 3, 2022 / 0 Comments
महासमुंद । रथ यात्रा के दौरान खूनी संघर्ष हो गया। पुरानी रंजिश में दो गुट आपस में भिड़ गए। इसमें 17 साल के एक लड़के की चाकू मारकर हत्या कर दी गई। जबकि 2 लोग घायल हैं। इनमें एक की...

कोल इंडिया में एचआर, पब्लिक रिलेशन सहित आठ विभागों में 481 पदों पर भर्ती

By Rakesh Soni / July 2, 2022 / 0 Comments
कोल इंडिया में मैनेजमेंट ट्रेनी बनने का मौका रायपुर। भारत सरकार की महारत्न कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड के साथ काम करने का एक बेहतर प्रस्ताव आया है। कोल इंडिया ने अपने आठ विभागों में मैनेजमेंट ट्रेनी के लिए विज्ञापन जारी...

Leave a Reply

Your email address will not be published.