सऊदी ने जी-20 सम्मेलन से पहले सुलझाया भारत के गलत नक्शे वाला विवाद

जी-20 सम्मेलन से पहले सऊदी अरब ने भारत के गलत नक्शे को लेकर पैदा हुआ विवाद को सुलझा लिया है। सऊदी अरब ने 20 रियाल के बैंक नोट पर छपे भारत के गलत नक्‍शे को हटा लिया है। दरअसल 20 रियाल बैंक नोट पर भारत का गलत नक्‍शा छापा गया था। इसमें अविभाजित जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग दिखाया गया था। इस पर भारत ने आपत्ति जताई थी। इसके बाद सऊदी अरब ने इस नोट को वापस ले लिया गया है। इस बार जी-20 समिट की अध्यक्षता सऊदी अरब कर रहा है।

सऊदी अरब ने जी-20 समिट के लिए 20 रियाल का नया बैंक नोट जारी किया था। इसमें एक तरफ किंग सलमान और जी-20 सऊदी समिट का लोगों था। वहीं, दूसरी तरफ जी-20 देशों का वैश्विक नक्शा था। इस नक्शे में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान समेत पूरे जम्मू-कश्मीर को भारत से अलग दिखाया गया था। मगर भारत की कडी आपत्ति के बाद इसे समिट से पहले ही वापस ले लिया गया। सऊदी अरब में भारतीय राजदूत औसाफ सईद ने 28 अक्टूबर को यह मुद्दा रियाद के सामने उठाया था।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने बताया कि इस मसले को लेकर सऊदी अरब के अधिकारियों से बातचीत की गई थी। रियाद के साथ नई दिल्ली में भी सऊदी के अधिकारियों से इस पर चर्चा हुई। इसके बाद गलत नक्शे वाले बैंकनोट को वापस ले लिया गया है।

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सऊदी अरब के अधिकारियों का दावा है कि 20 रियाल के इस बैंक नोट को जी-20 समिट की स्मारिका के तौर पर निकाला गया था। यह मुद्रा चलन के लिए नहीं थी। ऐसे में उसे वापस ले लिया गया है।  15वें जी-20 शिखर सम्मेलन की शुरुआत 21 नवंबर को होगी। यह कार्यक्रम 22 नवंबर तक चलेगा। 15वें जी-20 समिट की अध्यक्षता सऊदी अरब के किंग करेंगे। इस शिखर सम्मेलन की थीम ‘सभी के लिए 21वीं सदी के अवसरों का एहसास’ रखी गई है। कोरोना संक्रमण के चलते इस बार जी-20 सम्मेलन वर्चुअल तरीके से आयोजित किया जा रहा है।

Share The News
Read Also  मैक्सिको में कई गाड़ियों से पहुंचे बार, गोलियां मार कर 11 को मौत के घाट उतारा

Get latest news on Whatsapp or Telegram.