खास खबर नवरात्रि: पाबंदी के बाद भी आस्था में कोई कमी नही

कुम्हारी के प्रसिद्ध माँ महामाया मंदिर के गर्भगृह में ही विराजमान है – माँ महामाया देवी , देखने से लगता है की माँ महामाया की प्रतिमा का स्वरूप ईसान कोण में विराजमान है।

प्रवेश द्वार

कुम्हारी। नवरात्र का आज तीसरा दिन है। पहले ही दिन से लोगो में आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा है। सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन मंदिर ट्रस्ट कर रहा है यही कारण है कि भक्तों के आने में पूरी तरह मनाही रखी गई है।

महामाया मंदिर, कुम्हारी

कुम्हारी के प्रसिद्ध माँ महामाया मंदिर के गर्भगृह में ही विराजमान है। माँ महामाया देवी  देखने से लगता है की माँ महामाया की प्रतिमा  का  स्वरूप ईसान कोण में विराजमान है।

माँ महामाया देवी स्वयंभू है स्वपन के आधार पर  माँ इस जगह में प्रगट हुई पहले इस जगह में  घना जंगल हुआ करता था लोग यहाँ आने से डरते थे।पहले समय इस मंदिर को छोटा सा झोपडी नुमा बनाया गया था धीरे – धीरे माता जी की कृपा से यह मंदिर का विकास हुआ है। माँ महामाया देवी की  प्रतिमा ईसान कोण में है। पुराणों में कहते है की  जो मूर्ति ईसान कोण की तरफ होती है उसे तीर्थ का महत्व  मिलता है।

कुम्हारी के प्रसिद्ध  माँ महामाया मंदिर में नवरात्रि के पंचमी को माँ महामाया देवी  को आभूषणों से सजाया जाता है।जिसे देखने के लिए भारी संख्या में श्रद्धालु दुर- दूर से आते है। यह मंदिर दुर्ग से लगभग 22  किलोमीटर और रायपुर से 15 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है, कुम्हारी का प्रसिद्ध माँ महामाया मंदिर।

पुजारी ने बताया

पूजारी तेजराम देवांगन ने ekhabri से बात करते हुए बताया कि” प्रशासन का धन्यवाद,हम उनके द्वारा निर्धारित निर्देशों का पालन कर रहे हैं।आरती सुबह और शाम केवल पुजारियों द्वारा किया जाता है।बाहर का कोई भी मौजूद नही होते हैं। और इस बार पहले की तरह हवन भी श्रद्धालुओं के साथ नही होगा। वही श्रद्धालु थोड़ा मायूस रहते है कि पहले जैसा वे कुछ कर नही पा रहे हैं। पर मंदिर आके वे दूर से देख के अपनी आस्था को समर्पित करते हैं। ”

Read Also  सुप्रभात: खुद पर रखें विवेक

इस बार कलश की स्थापना हुई है

महामाया मंदिर में इस बार 2505 ज्योति प्रज्वलित की गई है। वहीं शीतला माता मंदिर में 154 ज्योति प्रज्वलित हुईं है। मंदिरों में भक्तों को आने की मनाही है यही कारण है कि लोग बाहर से ही देवी के दर्शन कर आशीर्वाद ले रहे हैं। मंदिर में प्रसाद, चुनरी, नारियल समेत कोई भी चीज़ चढ़ाने की भी मनाही है।

Share The News

Get latest news on Whatsapp or Telegram.