कोयला उत्पादन का विश्व कीर्तिमान बनाने वाला गांव बिजली-पानी को तरस रहा

Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (1)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (1)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (2)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (2)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (3)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (3)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (4)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (4)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (5)
Website Advt. - Chhattisgarh Tourism (5)
previous arrow
next arrow

जिस गांव के नाम पर संचालित एसइसीएल की बलरामपुर भूमिगत परियोजना ने लांगवाल पद्धति के जरिए कोयला उत्पादन कर विश्व स्तर पर कीर्तिमान हासिल करने का गौरव प्राप्त किया हो, उसी बलरामपुर गांव की स्थिति बदहाल है। वहां के ग्रामीण पानी और बिजली जैसी मूलभूत समस्याओं से जूझ रहे हैं। इतना ही नहीं जल संकट के कारण गांव के महिलाएं, पुरुष एवं बच्चे एसईसीएल की बंद पोखरिया खदान में लबालब भरे पानी में जान जोखिम में डालकर नहाने और कपड़े धोने को मजबूर हैं। वहीं ग्रामवासियों को प्यास बुझाने पोखरी जाकर पानी लाना पड़ता है।

नगर से आठ किलोमीटर दूर स्थित सूरजपुर विकासखंड का बलरामपुर गांव कोयला खान प्रभावित गांव है। इस गांव की आबादी करीब डेढ़ हजार है। इसी गांव के नाम से एसईसीएल बिश्रामपुर क्षेत्र की बलरामपुर भूमिगत परियोजना संचालित है। एक समय चाइना की लांगवाल पद्धति से कोयला उत्पादन कर इस खदान ने विश्व स्तर पर गौरव हासिल किया था। उसके बावजूद एसइसीएल प्रबंधन और प्रशासनिक उदासीनता के कारण इस पूरे गांव की आबादी पानी और बिजली जैसी अनेक बुनियादी सुविधाओं की मोहताज है। राजनीतिक उपेक्षा के साथ-साथ प्रशासनिक उदासीनता के कारण बलरामपुर गांव में रहने वाली आबादी नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं।

इस गांव में देश के पूर्व राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र कहे जाने वाले विशेष संरक्षित जनजाति पंडो समाज के लोगों के साथ ही रजवार, घसिया, लोहार व आदिवासी वर्ग के ग्रामीण निवास करते हैं। गांव के पंडो पारा में कहने को तो दो हैंडपंप हैं, लेकिन दोनों हैंडपंपों का पानी पीने योग्य नहीं है। मोहल्ले वासी मोहल्ले के ही रमेशर राजवाड़े के घर के कुंए से प्यास बुझाने को मजबूर हैं। इसी प्रकार पटेल पारा का एकमात्र हैंडपंप ग्रामीणों के लिए अनुपयोगी है। यही हाल लोहार पारा के एकमात्र हैंडपंप का है, जिससे लाल पानी निकलता है। महादेव पारा के एकमात्र हैंडपंप से करीब दो सौ की आबादी पानी भरने को मजबूर है। गांव के सभी मोहल्लों में जल का भारी संकट है। पानी के लिए ग्रामीणों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है।

Read Also  मुख्यमंत्री बघेल ने प्रधानमंत्री से किया कोविड वैक्सीन के एक करोड़ डोज उपलब्ध कराने का आग्रह

जल संकट की भयावह स्थिति के कारण पूर्व विधायक स्वर्गीय रविशंकर त्रिपाठी के प्रयास से एसइसीएल प्रबंधन द्वारा वर्ष 2010 में सीएसआर के अंतर्गत सरकारी स्कूल के बाजू में नलकूप खनन सहित पानी टंकी निर्माण एवं नल की व्यवस्था की गई थी किंतु महीने भर में ही एसइसीएल द्वारा की गई यह व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गई और नलकूप व पानी टंकी शो-पीस बनी पड़ी है। इस आशय की बार-बार शिकायत के बावजूद एसइसीएल प्रबंधन ने इस ओर ध्यान देना मुनासिब ही नहीं समझा।


ग्रामवासियों ने बताया कि भारी जल संकट के साथ ही गांव में बिजली व्यवस्था भी पूरी तरह लचर है। गांव में एलटी लाइन के तारों की स्थिति अत्यंत खस्ताहाल है। तेज हवा चलते ही कई-कई दिनों तक गांव में ब्लैकआउट की स्थिति बनी रहने से ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। गांव में गिने-चुने जिन लोगों के घरों में ट्यूबवेल है उन्हें भी पानी के लिए पोखरी, ढोड़ी अथवा कुमदा कालोनी जाना पड़ता है। इस समस्या की भी बार-बार शिकायत किए जाने के बावजूद व्यवस्था जस की तस है। समस्याओं से जूझ रहे ग्रामवासी शासन प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों की कार्यप्रणाली से काफी व्यथित हैं।

क्षेत्र में असुरक्षित पड़ी एसइसीएल की बंद पोखरिया खदानें मौतों का पर्याय बन चुकी है। पोखरी के नाम से जाने जाने वाली बंद पोखरिया का खदानों में लाखों गैलन पानी का अथाह भंडार है। कोयला उत्पादन के बाद डीजीएमएस के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करते हुए एसईसीएल प्रबंधन द्वारा असुरक्षित ढंग से छोड़ दी गई बंद पोखरिया खदानें दर्जनों लोगों की मौत का कारण बन चुकी है। बलरामपुर गांव से लगी बंद पोखरिया खदान नंबर नौ में लबालब भरे पानी में नहाते समय डूबने से करीब पांच माह पूर्व एक युवक की मौत हो गई थी। विकराल जल संकट से जूझ रहे बलरामपुर गांव ग्रामीण महिलाओं से लेकर पुरुष एवं बच्चे नहाने से लेकर कपड़े धोने के लिए पोखरी में मौत के करीब जाने को मजबूर हैं।

Read Also  सिलतरा के ग्रामीण युवाओं को मिले स्थानीय कंपनियों में नौकरी में प्राथमिकता: तेजेंद्र तोड़ेकर

वार्ड क्रमांक 8 की पंच सुमारी बाई ने शासन-प्रशासन के खिलाफ खरी खोटी सुनाते हुए कहा कि प्रशासनिक अक्षमता के कारण आज भी ग्रामवासी समस्याओं के बीच जीवन यापन करने को मजबूर हैं। उनकी समस्याओं से किसी को कोई सरोकार नहीं है।

छात्रा चंद्रमणि पंडो ने कहा कि देश के प्रथम राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद के दत्तक पुत्र पंडो जाति के सदस्य बलरामपुर गांव में नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। ग्रामीणों की समस्याओं से किसी को कोई सरोकार नहीं है। ग्रामीण जान जोखिम में डालकर पोखरी के लबालब पानी में नहाने और कपड़ा धोने को मजबूर है। आए दिन ब्लैक आउट की स्थिति निर्मित होने से विद्यार्थियों का शैक्षणिक भविष्य संकट में है।

नवविवाहिता सितारा पंडो ने कहा कि उसने पानी और बिजली का संकट अपने मायके में कभी नहीं देखा। यहां व्याप्त बुनियादी सुविधाओं के संकट से उसका जीवन नारकीय लगने लगा है। गांव गरीब का विकास करने का दावा करने वाली प्रदेश सरकार को ग्राम वासियों की समस्याओं का त्वरित निराकरण करने में दिलचस्पी दिखानी चाहिए, ताकि ग्रामीणों का विश्वास राज्य सरकार के प्रति कायम रह सके।

उपसरपंच संजय राजवाड़े ने कहा कि पानी और बिजली के भयावह संकट के कारण ग्राम वासियों का जीवन नर्क हो गया है। शासन प्रशासन से लेकर मंत्री और नेताओं तक वर्षों से शिकायत की जा रही है, किंतु किसी को ग्रामवासियों की समस्याओं से कोई सरोकार नहीं है। ग्रामीणों की समस्याओं को सुनने वाला कोई नहीं है। शासन और सरकार अखबारों और प्रचार-प्रसार के माध्यम से गांव गरीब का विकास करने का दावा कर ग्रामीणों के साथ अन्याय कर रही है।

Share The News


CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 


हिंदुओं से अलग धर्म चाहते हैं 50 लाख लोग:सरना को अलग धर्म बनाने की मांग

By Rakesh Soni / November 26, 2022 / 0 Comments
पटना -पटना के गांधी मैदान में शुक्रवार को 5 राज्यों के 10 हजार से ज्यादा लोग जमा हुए। इनकी एक ही मांग थी कि भारत सरकार ‘सरना धर्म कोड’ को लागू करे। इसका मतलब ये हुआ कि अगले जनगणना फॉर्म...

01 दिसंबर 2022 विश्व एड्स दिवस के अवसर पर एड्स के क्षेत्र में कार्य कर रहे लोग होंगे सम्मानित

By Reporter 5 / November 30, 2022 / 0 Comments
रायपुर। हर साल 1 दिसंबर को विश्व एड्स दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष एड्स दिवस का थीम समानता रखी गई है। स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव के मार्गदर्शन में छत्तीसगढ राज्य एड्स नियंत्रण समिति, स्वास्थ्य एवं...

ब्रेकिंग: भाजपा प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम को मिला नोटिस

By Reporter 5 / November 29, 2022 / 0 Comments
कांकेर। भानुप्रतापपुर उपचुनाव के भाजपा प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम का मामला थमता नजर नहीं आ रहा है अब उन्हें नोटिस मिली है इस नोटिस में लिखा गया है कि उन्हें 10:00 बजे तक थाने में उपस्थित होना है। नोटिस में नेताम...

Ekhabri ब्रेकिंग: हिमशिखर गुप्ता,जगन्नाथ प्रसाद पाठक संग अन्य आईएएस के प्रभार में बदलाव

By Reporter 5 / November 29, 2022 / 0 Comments
रायपुर। राज्य सरकार ने आधा दर्जन आईएएस अधिकारियों का प्रभार में बदलाव किया है। सामान्य प्रशासन विभाग ने आदेश जारी किया है। जिसमें आईएस भुवनेश यादव को अतिरिक्त प्रभार वाणिज्य एवं उद्योग तथा सार्वजनिक उपक्रम विभाग का सचिव बनाया है,...

औरतें भिखारी बनकर करती हैं चोरियां:ओडिशा से रायपुर आया गैंग

By Rakesh Soni / November 26, 2022 / 0 Comments
रायपुर-रायपुर के रिहायशी इलाकों में कुछ औरतें भिखारी बनकर भटका करती थीं। मौका पाकर लोगों के घरों से कैश और गहने पार कर दिया करती थीं। अब ये शातिर औरतें पुलिस के हत्थे चढ़ी हैं। पूछताछ में पता चला है...

भानुप्रतापपुर उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी की गिरफ्तारी मामला, बृजमोहन ने भरी हुंकार

By Reporter 5 / November 28, 2022 / 0 Comments
रायपुर। भानुप्रतापपुर उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम की गिरफ्तारी के लिए झारखंड पुलिस की दबिश दी है। कार्यवाही का हर किसी को इंतजार है। इस बीच भाजपा चुनाव प्रभारी बृजमोहन अग्रवाल ने हुंकार भरी है। उन्होंने छत्तीसगढ़ सरकार पर...

राज्य लोक सेवा आयोग ने सिविल सर्विस परीक्षा की अधिसूचना जारी की

By Reporter 5 / November 26, 2022 / 0 Comments
रायपुर। राज्य लोक सेवा आयोग ने सिविल सर्विस परीक्षा की अधिसूचना जारी कर दी है। जारी अधिसूचना के अनुसार बड़ी मात्रा में इस बार वैकेंसी निकली है।189 पदों पर होने वाली परीक्षा के लिए सबसे ज्यादा पद नायब तहसीलदार के...

आज का राशिफल

By Reporter 5 / November 29, 2022 / 0 Comments
मेष राशि : आज का दिन आपकी आय में वृद्धि लेकर आएगा। आपकी आय बढ़ने से आपका मन प्रसन्न रहेगा और आप कुछ नई योजनाओं में भी धन का निवेश करेंगे। परिजनों के सहयोग से आज आप कोई छोटे-मोटे बिजनेस...

बोर्ड परीक्षाओं को ध्यान में रखकर छात्रों को 10वीं-12वीं की कराएं विशेष तैयारी, लापरवाह शिक्षकों पर सख्त कार्रवाई करने की बात: कलेक्टर

By Reporter 5 / November 29, 2022 / 0 Comments
रायपुर। छात्रों के भविष्य के लिए शिक्षा का स्तर सुधारना आवश्यक है। इस कड़ी में मनेन्द्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर कलेक्टर शपी.एस. ध्रुव ने बीते दिन जिले के सभी हाईस्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूलों के प्राचार्यों के साथ बैठक कर शिक्षा स्तर की समीक्षा...

नगर निगम रायपुर से स्वास्थ्य अधिकारी विजय पाण्डेय हुए रिटायर

By Reporter 5 / November 30, 2022 / 0 Comments
रायपुर। नगर पालिक निगम रायपुर के स्वास्थ्य अधिकारी के पद पर विजय पाण्डेय निरंतर 36 वर्षो तक नगरीय निकायों को सेवा देने के पष्चात आज सेवानिवृत्त हो गये। सेवानिवृत्ति पर विजय पाण्डेय का नगर निगम रायपुर के मुख्यालय भवन महात्मा...