सेल्फ डिफेंस पर वर्चुअल जनजागरण कार्यक्रम

अत्याचार ना सहें, चुप ना रहे, चुप्पी तोड़े, साहसी बनें और आत्मरक्षा के लिए हमेशा तैयार रहें

स्कूली छात्र-छात्राओं के लिए वर्चुअल क्लास के द्वारा सेल्फ डिफेंस पर जन जागरण और प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन व्याख्याता पूनम सिंह द्वारा रविवार को किया गया, इसे व्याख्याता पूनम सिंह ने होस्ट किया, जिसमें सेल्फ डिफेंस एक्सपर्ट और अंतरराष्ट्रीय कराटे खिलाड़ी हर्षा साहू (रायपुर) ने विस्तार से प्रशिक्षण दिया।


सेल्फ डिफेंस के इस वर्चुअल जन जागरण और प्रशिक्षण कार्यक्रम में सेल्फ डिफेंस एक्सपर्ट हर्षा साहू ने हमलावर व्यक्ति से बचने और हमले के विरुद्ध आत्मरक्षा के लिए उठाए जाने वाले तरीकों को समझाया। उन्होंने कहा कि भीड़ भाड़ का फायदा उठाकर अमर्यादित हरकत करने वालों से डरने की बजाय तत्काल उनका विरोध करना चाहिए अन्यथा ऐसे तत्वों का मनोबल बढ़ता है और उनकी अमर्यादित हरकतें बढ़ती है।


वर्चुअल कार्यक्रम की होस्ट पूनम सिंह ने कहा कि आत्मरक्षा हमारा मौलिक अधिकार है। बच्चे और स्कूली विद्यार्थी हमलावरों के लिए सॉफ्ट टारगेट होते हैं इसलिए उन्हें आत्मरक्षा की टेक्निक सीखने की सबसे ज्यादा जरूरत है। बच्चों और स्कूली विद्यार्थियों पर हमले की बढ़ती घटनाओं के कारण ऐसे कार्यक्रम कराने की आवश्यकता महसूस हुई, जिसमें बच्चे और स्कूली विद्यार्थी अपने विरुद्ध होने वाले हमले, छेड़खानी और अमर्यादित हरकतों का सामना कैसे करें, इसकी जानकारी दी जा सके। हमलों और अत्याचार के खिलाफ चुप रहना सबसे बड़ी कमजोरी है इसलिए चुप ना रहे, चुप्पी तोड़े, साहसी बनें और आत्मरक्षा के लिए हमेशा तैयार रहें।


सेल्फ डिफेंस की वर्चुअल मीटिंग में बच्चों को गुड टच बैड टच जैसे बिंदुओं के बारे में भी बताया गया।
कार्यक्रम में बिलासपुर, रायपुर, रायगढ़, कोरबा सूरजपुर जिले सहित छत्तीसगढ़ के अनेकों हिस्सों की शिक्षिकाएं और स्कूली छात्र/ छात्राएं शामिल हुए।

Share The News
Read Also  घर बैठे करिए देवी मां महामाई के दर्शन

Get latest news on Whatsapp or Telegram.