इतिहास खोजने के लिए देश के 63 स्थानों पर होगी खोदाई

देश का इतिहास खोजने के लिए देशभर के 63 स्थानों पर खोदाई की जाएगी। खोदाई कराए जाने वालों में स्‍थलों में हरियाणा, पंजाब, जम्मू-कश्मीर, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और मध्य प्रदेश शामिल हैं। इस बारे में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) ने अनुमति भी दे दी है। इसमें से एएसआइ आठ स्थलों पर खोदाई कराएगा,  जबकि शेष 46 स्‍थलों पर विभिन्न कालेजों और विश्वविद्यालयों आदि को जिम्‍मेदारी दी जाएगी।

एएसआइ जम्मू-कश्मीर के आरएस पुरा स्थित तिब्बा तिलियाना (जिदर महलू) में पहली बार खोदाई कराएगा। अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि यह स्थल कितना पुराना है। जम्मू कश्मीर में 2010 के बाद एएसआइ द्वारा यह पहली खोदाई होगी। इसके अलावा हरियाण् के सिरसा के ठेड मोंड में खोदाई होगी। खोदाई में हरियाणा और राजस्थान की सीमा पर वह स्थान भी शामिल है, जहां से कैथल और सिरसा की दूरी पांच किलोमीटर है। यहां खोदाई में सूख चुकी सरस्वती नदी के बारे में भी पता लगाया जाएगा। राजस्थान के हनुमानगढ़ स्थित कालीबंगा, झारखंड के हजारीबाग के ब्लाक सदर स्थित ऐतिहासिक स्थल सीतागढ़ा की पहाड़ी पर खोदाई होगी। इसी तरह गुजरात के मेहसाणा जिले के बडनगर,  कर्नाटक के हासन स्थित हालेबिडू,  मध्य प्रदेश्ा के जबलपुर स्थित तेवर का त्रिपुरी और पंजाब के मोहाली स्थित मसोल पहाड़ी की भी खोदाई की जाएगी।
गुजरात के कच्छ स्थित नैनी रायन में बरोड़ा स्थित एमएस विश्वविद्यालय खोदाई कराएगा। हरियाणा के भिवानी स्थित तिगराना में महेंद्रगढ़ स्थित केंद्रीय विश्वविद्यालय खोदाई कराएगा। सेंटर आफ सेंट्रल एशियन स्टडीज विश्वविद्यालय ऑफ कश्मीर, जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर स्थित उत्तर- पश्चिमी क्षेत्र में स्थित बुर्जाहम, मध्य प्रदेश के भीमबेटका स्थित रॉक शेल्‍टर की खोदाई अमरकंटक स्थित इंदिरा गांधी जनजातीय विश्वविद्यालय द्वारा व बिहार के जिला सारण स्थित चिरांद में पूना विश्वविद्यालय से संबद्ध डेक्कन कॉलेज द्वारा खोदाई कराई जाएगी। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय द्वारा बनारस के राजा तालाब स्थित बाभानियार, हरियाणा के भिवानी स्थित खनक, उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले स्थित भानदेश्वर महादेव मंदिर परिसर में भी खोदाई कराई जाएगी। इसी तरह बंगाल के पूर्वी मेदनीपुर स्थित बहीरी में कलकत्ता विश्वविद्यालय और कानपुर के घाटमपुर में स्थित बिहूपुर-रार में ब्रह्मावर्त रिसर्च इंस्टीट्यूट, कानपुर द्वारा खोदाई कराई जाएगी।

Share The News
Read Also  MP Board कक्षा 12वीं की बची हुई परीक्षायें आज से, स्टूडेंट्स पेपर देने जाने से पहले जान लें क्या हैं नए नियम

Get latest news on Whatsapp or Telegram.