छत्तीसगढ़ में बना रिकॉर्ड: 21 लाख 52 हजार 475 पंजीकृत में से रिकार्ड 95.38 प्रतिशत किसानों ने बेचा धान

रायपुर। छत्तीसगढ़ में लागू की गई किसान हितैषी नीतियों और समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की बेहतर व्यवस्था के कारण खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में कुल पंजीकृत किसानों में से रिकार्ड 95.38 प्रतिशत किसानों ने धान बेचा। धान बेचने वाले किसानों की संख्या इस साल सबसे अधिक है। इस वर्ष पंजीकृत 21 लाख 52 हजार 475 किसानों में से 20 लाख 53 हजार 483 किसानों ने अपना धान बेचा है। छत्तीसगढ़ में नई सरकार के गठन के बाद समर्थन मूल्य पर धान बेचने वाले किसानों की संख्या, कुल पंजीकृत रकबा, बेचे गए धान के रकबे, धान बेचने वाले किसानों के प्रतिशत के साथ-साथ कुल उपार्जित धान की मात्रा में भी उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई है। वर्ष 2020-21 में राज्य गठन के 20 वर्षों में इस वर्ष छत्तीसगढ़ में सर्वाधिक 92 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान खरीदी का नया कीर्तिमान बना है। राज्य में यदि पिछले 6 वर्षों में धान बेचने वाले किसानों की संख्या को देंखे तो वर्ष 2015-16 में 13 लाख 17 हजार 583 पंजीकृत किसानों में से 11 लाख 5 हजार 556 किसानों ने अपना धान बेचा है, जो कुल पंजीकृत किसानों का 83.9 प्रतिशत है। इसी प्रकार 2016-17 में कुल पंजीकृत 14 लाख 51 हजार 88 किसानों में से 13 लाख 27 हजार 944 किसानों ने धान बेचा, जिसका प्रतिशत 91.5 है। वर्ष 2017-18 में पंजीकृत 15 लाख 77 हजार 332 किसानों में से 12 लाख 6 हजार 264 किसानों ने धान बेचा, जो 76.4 प्रतिशत है। वर्ष 2018-19 में पंजीकृत 16 लाख 96 हजार 765 किसानों में से 15 लाख 71 हजार 414 किसानों ने धान बेचा, जो 92.6 प्रतिशत है। इसी तरह वर्ष 2019-20 में पंजीकृत 19 लाख 55 हजार 544 किसानों में से 18 लाख 38 हजार 593 किसानों ने अपना धान बेचा है, जो 94.02 प्रतिशत होता है।धान खरीदी के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए
राज्य में विषम परिस्थितियों के बावजूद राज्य सरकार द्वारा धान खरीदी के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए। बारदानों की कमी को दूर करने अनेक वैकल्पिक व्यवस्थाएं के माध्यम से बारदानों की सुचारू उपलब्धता सुनिश्चित की गई। किसानों को भुगतान निरंतर किया गया। कस्टम मीलिंग के साथ ही संग्रहण केन्द्रों में धान का उठाव भी निरंतर जारी है। प्रदेश में धान खरीदी का काम शांतिपूर्ण और सुचारू रूप से सम्पन्न हुआ है।
राज्य में धान खरीदी का एक नया रिकार्ड बना
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ राज्य में धान खरीदी का एक नया रिकार्ड बना है। राज्य में बीते दो सालों में खेती-किसानी के रकबे और किसानों की संख्या में उल्लेखनीय बढ़ोत्तरी हुई है। राज्य सरकार की किसान हितैषी नीतियों के चलते धान की खेती के पंजीयन का रकबा 27 लाख हेक्टेयर से अधिक और पंजीकृत किसानों की संख्या 21 लाख 52 हजार तक जा पहुंची है। यह भी अपने-आप में एक रिकार्ड है।
उपार्जित धान की मात्रा में भी उल्लेखनीय वृद्धि
पिछले 6 वर्षों में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए पंजीकृत रकबे और कुल उपार्जित धान की मात्रा में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई है वर्ष 2015-16 में 21 लाख 26 हजार हेक्टेयर रकबे का पंजीयन हुआ था और 59 लाख मीट्रिक टन धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी की गई थी। वर्ष 2016-17 में पंजीकृत रकबा 23 लाख 42 हजार हेक्टेयर था और 69 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई। वर्ष 2017-18 में पंजीकृत रकबा 24 लाख 46 हजार हेक्टेयर था और 56 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई। वर्ष 2018-19 में पंजीकृत रकबा 25 लाख 60 हजार हेक्टेयर था और 80 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई। वर्ष 2019-20 में पंजीकृत रकबा 26 लाख 88 हजार हेक्टेयर था और 83 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई थी।
यह एक सुखद भविष्य का संकेत
कृषि प्रधान छत्तीसगढ़ राज्य में समृद्ध हो रही खेती-किसानी के लिए यह एक सुखद भविष्य का संकेत है। राज्य में खेती-किसानी को एक सम्बल मिला। कृषि छोड़ चुके लोग फिर कृषि की ओर लौटे हैं। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत प्रति एकड़ 10 हजार रूपए की कृषि आदान सहायता राशि मिलने से किसानों का उत्साह बढ़कर दोगुना हो गया। इस योजना के तहत राज्य के किसानों को 5750 करोड़ रुपए की सीधी मदद दी जा रही है। तीन किश्तों की राशि किसानों के खातों में अंतरित भी कर दी गई है और चौथी भी किश्त की राशि मार्च तक अंतरित की जाएगी।

Share The News

CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 





कोविड से निपटने स्वास्थ्य विभाग करेगा रायपुर में 202 अस्थायी पदों पर भर्तियां, वॉक-इन-इंटरव्यू 18 जनवरी से

By Reporter 5 / January 15, 2022 / 0 Comments
रायपुर। स्वास्थ्य विभाग, रायपुर द्वारा 202 अस्थायी पदों पर भर्तियां निकाली गई हैं। इनमें डॉक्टर, मेडिकल ऑफिसर, डेंटिस्ट, हॉस्पिटल मैनेजर, स्टोर इंचार्ज कम फर्मासिस्ट, नर्सिंग स्टॉफ, हाउस कीपिंग सुपरवाइजर, ऑक्सीजन टेक्नीशियन, लैब टेक्नीशियन, टेलीफोन आपरेटर, सिक्यूरिटी गार्ड सहित अन्य पद...

कुम्हारी में कोविड जागरुकता अभियान में मास्क बांटे

By Reporter 5 / January 14, 2022 / 0 Comments
कुम्हारी। सेवा संकल्प समिति कुम्हारी द्वारा आज रविवार को 5000 नग मास्क वितरण किया गया साथ ही लोगों को बढ़ते हुए कोरोना वायरस से बचने के लिए सभी को जागरूक किया गया। इस कार्यक्रम में निश्चय वाजपेयी,महेश सोनकर,गिरीश सोनी,हरिदास वैष्णव,प्रणव...

सिख फॉर जस्टिस ने ली प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा चूक की जिम्मेदारी

By Reporter 1 / January 11, 2022 / 0 Comments
प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा चूक की जिम्मेदारी सिख फॉर जस्टिस ने ली है। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट के 50 से अधिक वकीलों को इंटरनेशनल नंबर से कॉल कर दावा कि‍या गया है क‍ि प्रधानमंत्री की सुरक्षा चूक के लि‍ए वह ज‍ि‍म्‍मेदार...

नवीन तकनीक से 12 सौ किलोग्राम प्रति हेक्टेयर बढ़ा मत्स्य उत्पादन

By Reporter 5 / January 13, 2022 / 0 Comments
दुर्ग। मत्स्य पालन वर्तमान में एक लोकप्रिय व्यवसाय के रूप में उभर रहा है और जिले की अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बना रहा है। आज जिले में मत्स्य बीज के लिए 10 हैचरी स्थल जिससे अन्य राज्य जैसे पश्चिम बंगाल जिसपर...

प्रधानमंत्री किसान योजना में खत्म कर दी गई यह खास सुविधा

By Reporter 1 / January 14, 2022 / 0 Comments
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 2022 में मोदी सरकार बड़ा बदलाव किया है। इसका सीधा असर 12 करोड़ 44 लाख से अधिक किसानों पर पडेगा। सरकार ने यह बदलाव ऐसे समय में किया है, जब उत्तर प्रदेश, पंजाब समेत पांच...

नक्सलियों ने पीट-पीटकर फिर की ग्रामीण की हत्या

By Rakesh Soni / January 11, 2022 / 0 Comments
रायपुर। बीजापुर जिले में नक्सलियों की क्रूरता एक बार फिर देखने को मिली है। माओवादियों ने एक 50 साल के ग्रामीण की डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी है। बताया जा रहा है कि सोमवार-मंगलवार की रात लगभग 15 से...

आज का राशिफल

By Reporter 1 / January 15, 2022 / 0 Comments
मेष राशि : आज का दिन आपके लिए मध्यम रूप से फलदायक रहेगा। आज आपको हर मामले में जीवनसाथी का सहयोग व सानिध्य में भरपूर मात्रा में मिलता दिख रहा है। आज आपके कार्यक्षेत्र में विरोधी भी आपस में लड़कर...

छत्तीसगढ़ में ओमिक्रॉन: स्वास्थ्य मंत्री सहित चार आए चपेट में

By Rakesh Soni / January 11, 2022 / 0 Comments
रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना की यह तीसरी लहर नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से है। यह नतीजा अभी आए जीनोम सीक्वेंसिंग की रिपोर्ट पर आधारित है। मंगलवार को प्रदेश के 4 नए ओमिक्रॉन मरीज मिले हैं। जिन लोगों में ओमिक्रॉन...

होम आइसोलेशन में ऐसे करते हैं इलाज

By Rakesh Soni / January 14, 2022 / 0 Comments
सांस लेने में दिक्कत नहीं है तो ही मिलेगा होम आइसोलेशन; फ्री दवा और डॉक्टर्स की सलाह मिलेगी रायपुर। कोरोना पॉजिटिव आने के बाद हर मरीज को अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है। घर पर रहकर भी कोरोना का इलाज...

Death News of Collor Rani : उन्तीस बच्चों की मां, पेंच की पहचान, मोस्ट फोटोजेनिक शेरनी नही रही

By Reporter 5 / January 17, 2022 / 0 Comments
सिवनी। मध्य प्रदेश में स्थित पेंच टाइगर रिजर्व की रानी कही जाने वाली कॉलर बाघिन की मौत हो गई है। रविवार को टाइगर रिजर्व पार्क में ही बाघिन का अंतिम संस्कार किया गया है। कॉलर बाघिन 23 बच्चों की मां...