पूर्वी लद्दाख विवाद पर सेना प्रमुख बोले- चरणबद्ध तरीके से हट रही हैं भारत और चीन की सेनाएं

देहरादूनः थलसेना अध्यक्ष जनरल एम एम नरवणे ने पूर्वी लद्दाख विवाद पर शनिवार को कहा कि चीन से लगती भारत की सीमा पर स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है और दोनों देशों की सेनाएं चरणबद्ध तरीके से हट रही हैं, जिसकी शुरुआत गलवान घाटी से हो रही है. जनरल नरवणे के इस बयान से क्षेत्र से सैनिकों की परस्पर वापसी की पहली आधिकारिक पुष्टि हुई है.

 

उन्होंने विश्वास जताया कि दोनों देशों के बीच जारी वार्ता से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के बारे में माने जा रहे सभी मतभेद सुलझ जाएंगे. जनरल नरवणे यहां भारतीय सैन्य अकादमी की पासिंग आउट परेड से इतर संवाददाताओं से बात कर रहे थे. उन्होंने कहा ‘दोनों पक्ष चरणबद्ध तरीके से हट रहे हैं. हमने उत्तर से, गलवान नदी के क्षेत्र से इसकी शुरुआत की है. हमारी बहुत सार्थक बातचीत हुई. और जैसा कि मैंने कहा कि यह जारी रहेगी तथा आगे हालात सुधरेंगे.’

 

पांच सप्ताह से अधिक समय तक बनी गतिरोध की स्थिति

 

भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग सो, गलवान घाटी, डेमचोक और दौलत बेग ओल्डी में पांच सप्ताह से अधिक समय से गतिरोध की स्थिति बनी हुई है. चीनी सेना के जवान बड़ी संख्या में पैंगोंग सो समेत अनेक क्षेत्रों में सीमा के भारतीय क्षेत्र की तरफ घुस आए थे.

 

भारतीय सेना वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के उल्लंघन की इन घटनाओं पर कड़ी आपत्ति व्यक्त करती रही है और उसने क्षेत्र में अमन-चैन की बहाली के लिए चीनी सैनिकों की तत्काल वापसी की मांग की है. दोनों पक्षों ने पिछले कुछ दिन में विवाद सुलझाने के लिए श्रृंखलाबद्ध बातचीत की है.

Read Also  स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को जोडऩे वाली आठ ट्रेनों का शुभारंभ

 

उन्होंने कहा ‘मैं सभी को आश्वस्त करना चाहूंगा कि चीन के साथ हमारी सीमाओं पर स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है. हम श्रृंखलाबद्ध बातचीत कर रहे हैं जो कोर कमांडर स्तर की वार्ता से शुरू हुई थी जिसके बाद स्थानीय स्तर पर समान रैंक के कमांडरों के बीच बैठक हुई.’ थलसेना प्रमुख ने कहा ‘परिणामस्वरूप काफी हद तक दोनों पक्ष एक-दूसरे के साथ गतिरोध से अलग हुए हैं और हमें उम्मीद है कि सतत बातचीत से हम अपने बीच माने जाने वाले सभी मतभेदों को सुलझा लेंगे.’

 

हॉट स्प्रिंग क्षेत्र से दोनों सेनाओं ने हटना शुरू किया 

 

सैन्य सूत्रों ने मंगलवार को दावा किया था कि दोनों सेनाओं ने गलवान घाटी में गश्त बिंदु 14 और 15 के आसपास से तथा हॉट स्प्रिंग क्षेत्र से हटना शुरू कर दिया है. सूत्रों का कहना है कि चीनी पक्ष दोनों क्षेत्रों में डेढ़ किलोमीटर तक पीछे हट गया है. हालांकि, विदेश मंत्रालय या रक्षा मंत्रालय ने अभी तक इस संबंध में प्रश्नों का उत्तर नहीं दिया है. हालात पर नजर रख रहे लोगों का कहना है कि अभी तक इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि चीनी सैनिक गलवान घाटी और हॉट स्प्रिंग में एलएसी के भारतीय क्षेत्र से वापस हो गए हैं.

 

विवाद को समाप्त करने के लिए पहले गंभीर प्रयास के तहत लेह स्थित 14वीं कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग, लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह और तिब्बती सैन्य जिले के कमांडर मेजर जनरल लिऊ लिन ने छह जून को करीब सात घंटे तक वार्ता की थी. इसके बाद बुधवार और शुक्रवार को मेजर जनरल स्तर की वार्ता हुई. दोनों बार भारतीय पक्ष ने यथास्थिति बहाल करने और इलाकों से हजारों चीनी सैनिकों की तत्काल वापसी पर जोर दिया था. भारत इस क्षेत्र को एलएसी का अपना क्षेत्र मानता है.

Read Also  अब कैबिनेट कमेटियों में फेरबदल: मंडाविया, सिंधिया और ईरानी को मिली जगह

 

रक्षा मंत्री ने की सैन्य तैयारियों की समीक्षा

 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को पूर्वी लद्दाख में तथा सिक्किम, उत्तराखंड और अरुणाचल प्रदेश में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास अन्य कई संवेदनशील इलाकों में समग्र सैन्य तैयारियों की समीक्षा की. सूत्रों ने बताया कि पूर्वी लद्दाख में गतिरोध के बाद दोनों पक्षों ने पिछले कुछ दिन में उत्तरी सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और अरुणाचल प्रदेश में एलएसी पर अतिरिक्त सैनिकों को तैनात किया है.

 

पिछले महीने की शुरुआत में गतिरोध शुरू होने के बाद भारतीय सैन्य नेतृत्व ने फैसला किया था कि भारतीय सैनिक पैंगोंग सो, गलवान घाटी, डेमचोक तथा दौलत बेग ओल्डी के सभी विवादित क्षेत्रों में चीनी सैनिकों के आक्रामक अंदाज से निपटने के लिए कड़ा रुख अपनाएंगे. चीनी सेना एलएसी के पास धीरे-धीरे अपना रणनीतिक भंडार बढ़ाती रही है और उसने वहां तोपें एवं अन्य भारी सैन्य उपकरण पहुंचाए हैं.

 

सड़क निर्माण पर चीन ने जताया विरोध

 

मौजूदा गतिरोध के शुरू होने की वजह पैंगोंग सो झील के आसपास फिंगर क्षेत्र में भारत के एक महत्वपूर्ण सड़क निर्माण का चीन द्वारा किया जा रहा तीखा विरोध है. इसके अलावा गलवान घाटी में दारबुक-शयोक-दौलत बेग ओल्डी को जोड़ने वाली एक और सड़क के निर्माण पर भी चीन विरोध जता रहा है.

 

पैंगोंग सो में फिंगर क्षेत्र में सड़क को भारतीय जवानों के गश्त करने के लिहाज से अहम माना जाता है. भारत ने पहले ही तय कर लिया है कि चीनी विरोध की वजह से वह पूर्वी लद्दाख में अपनी किसी सीमावर्ती आधारभूत परियोजना को नहीं रोकेगा. दोनों देशों के सैनिक गत पांच और छह मई को पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग सो क्षेत्र में आपस में भिड़ गए थे. इस घटना में दोनों पक्षों के सैनिक घायल हुए थे. इस झड़प में भारत और चीन के करीब 250 सैनिक शामिल थे. इसी तरह की एक अन्य घटना में नौ मई को उत्तरी सिक्किम सेक्टर में नाकू ला दर्रे के पास लगभग 150 भारतीय और चीनी सैनिक आपस में भिड़ गए थे.

Share The News




CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 


CG सदन में उठा छत्तीसगढ़ी में पढ़ाई का मुद्दा.. शिक्षा मंत्री बोले- सरगुजिहा-सदरी में भी पढ़ाई की तैयारी, छत्तीसगढ़ी में MA वालों को सरकारी नौकरी, भर्ती प्रक्रिया चालू.

By Sub Editor / February 16, 2024 / 0 Comments
छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र का 10वें दिन है। सदन में छत्तीसगढ़ी में पढ़ाई का मुद्दा उठा। विधायक कुंवर निषाद ने मुद्दा उठाते हुए कहा कि बहुत से युवा हैं जो छत्तीसगढ़ी भाषा की पढ़ाई कर चुके हैं, उन्हें टीचर...
bhupesh

कमलनाथ के बाद अब पूर्व सीएम भूपेश बघेल ने बदला मूड

By Reporter 1 / February 18, 2024 / 0 Comments
लोकसभा चुनाव से ऐन पहले मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और बेटे नकुलनाथ के भाजपा में जाने की अटकलों ने राजनीतिक गलियारों में भूचाल ला दिया है। इस बीच नकुलनाथ ने X अकाउंट से कांग्रेस हटाकर अटकलों को और...

राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों का हुआ तबादला…देखिए लिस्ट

By Sub Editor / February 17, 2024 / 0 Comments
राज्य शासन द्वारा राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के नवीन पदस्थापना आदेश जारी  
rajdoot

अमेरिकी राजदूत की सुरक्षा में चूक: परिवार संग आए थे सीकरी घूमने, 2 घंटे लपका रहा साथ; किसी को पता भी न चला

By Rakesh Soni / February 17, 2024 / 0 Comments
आगरा-अमेरिकी नौसेना सचिव के बाद अब अमेरिकी राजदूत को भी फतेहपुर सीकरी स्मारक में लपके ने भ्रमण करा दिया। अमेरिकी राजदूत एरिक माइकल गार्सेटी शुक्रवार को अपने परिवार के साथ फतेहपुर सीकरी के स्मारक देखने के लिए पहुंचे थे। यहां...

नगर तथा ग्राम निवेश में पदस्थ अधिकारीयों का तबादला…देखें आदेश

By Sub Editor / February 17, 2024 / 0 Comments
राज्य शासन ने नगर तथा ग्राम निवेश में कार्यरत 4 अधिकारियों का तबादला किया है। देखें आदेश...
beti ki hatya

बेटी की हत्या का आरोपी कुछ घंटों में गिरफ्तार

By Rakesh Soni / February 17, 2024 / 0 Comments
घरघोड़ा  तमनार थाना क्षेत्र के ग्राम धौराभाटा में एक पिता के द्वारा अपनी ही बेटी की हत्या करने का मामला प्रकाश में आया है । हत्या के खबर से पूरे क्षेत्र में आग की तरह फैल गया। मामले की सूचना...

छत्तीसगढ़ के पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल, 25 निरीक्षकों का हुआ तबादला…देखें लिस्ट

By Sub Editor / February 16, 2024 / 0 Comments
रायपुर : छत्तीसगढ़ के पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल हुआ है. डीजीपी अशोक जुनेजा ने 25 निरीक्षकों का तबादला किया है. जारी आदेश के अनुसार निरीक्षक रमाकांत साहू बलरामपुर-रामानुजगंज से एटीएस रायपुर में वापसी हुई है. वीरेंद्र कुमार चंद्रा को...
WhatsApp Image 2024 02 18 at 11.48.03 AM

प्रेस क्लब रायपुर का चुनाव संपन्न…कौन जीता कौन हारा, देखिए!

By Sub Editor / February 18, 2024 / 0 Comments
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपर में 5 साल बाद प्रेस क्लब का चुनाव आज संपन्न हुआ, जिसके बाद मतगणना की गई, रायपुर प्रेस क्लब के नए अध्यक्ष संकल्प पैनल से बने प्रफुल्ल ठाकुर, इसके साथ ही संकल्प पैनल से संदीप शुक्ला...
WhatsApp Image 2024 02 16 at 3.49.05 PM (1)

बेटी का मोबाइल पर बात करना पिता को गुजरा नागवार, गुस्से में उतारा मौत के घाट

By Sub Editor / February 16, 2024 / 0 Comments
जिले के तमनार थाना क्षेत्र में पिता ने अपनी बेटी की हत्या कर दी। आरोपी ने चारपाई के पाटी से हमला कर बेटी को मौत के घाट उतारा दिया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार...
gulzar

हिन्दी फिल्मों के एक प्रसिद्ध गीतकार हैं ‘गुलज़ार’

By Reporter 1 / February 18, 2024 / 0 Comments
भारतीय ज्ञानपीठ से सम्मानित होने वाले सम्पूर्ण सिंह कालरा (1934) ‘गुलज़ार’ नाम से प्रसिद्ध हैं और हिन्दी फिल्मों के एक प्रसिद्ध गीतकार हैं। इसके अतिरिक्त वे एक कवि, पटकथा लेखक, फ़िल्म निर्देशक, नाटककार तथा प्रसिद्ध शायर हैं। उनकी रचनाएं मुख्यत...

Leave a Comment