उत्तर पुस्तिका जमा करने काॅलेजों में बाॅक्स की व्यवस्था करने की मांग

रायपुर। पण्डित रविशंकर शुक्ल विश्विद्यालय के द्वारा अंतिम वर्ष के छात्रों की उत्तरपुस्तिका को पोस्ट से मंगाए जाने के बजाय नियत महाविद्यालयो में बॉक्स की व्यवस्था करने की मांग प्राइवेट कालेज एसोसिएशन ने की है।
एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेश शुक्ला ने राज्य शासन से विश्वविद्यालय को इस सम्बंध में उचित दिशा-निर्देश जारी करने की मांग करते हुए सचिव उच्च शिक्षा को एक पत्र लिखा है।


एसोसिएशन ऑफ अनएडेड प्राइवेट प्रोफेशनल कालेज छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष सुरेश शुक्ला ने कहा कि एक छात्र पोस्ट से उत्तर पुस्तिका विश्वविद्यालय भेजने में कम से कम 250 रुपए पोस्टल खर्च लग रहा है।उत्तरपुस्तिका के लिये ए-4साइज पेपर में कम से कम 50 रु लगेंगे। छात्रों ने परीक्षा फीस विश्वविद्यालय को लगभग1190 जमा की है।
पोस्ट के मार्फ़त उत्तर पुस्तिकाएं मंगाए जाने से छात्रों को दोहरी मार पड़ रही है।

2100 किस बात का

अभिभावक और छात्र- छात्राओं का सवाल है कि 2100 एडमिशन फीस जो विश्वविद्यालय द्वारा लिया गया है वह किस बात का है।इस बार कोरोना महामारी काल में विद्यार्थियों ने कोई भी सुविधाओं का लाभ प्राप्त नही किया है। ना ही आंसर शीट, ना परीक्षा स्थल का उपयोग। इसके विपरीत शहर हो या ग्रामीण के विद्यार्थि सभी को उत्तर पुस्तिका जमा करने का प्रबन्द ,डाटा का खर्च सभी अतिरिक्त व्यय करना है।


ऐसी स्थिति में परीक्षा केंद्र में या विश्विद्यालय कुछ महाविद्यालय को नियत कर दे जहां बाॅक्स रखें जाए, जहां छात्र संकाय अनुसार पेटियों में उत्तर पुस्तिका जमा कर सकें।कई स्थान के बच्चों के घर के पास परीक्षा केंद्र है और पोस्ट आफिस दूर है।

Read Also  CBSE ने घोषित किए 12वीं के नतीजे, ऐसे चेक करें रिजल्ट


कोरोनाकाल में पोस्टआफिस में भी भीड़ लगेगी,जो उचित नही है।
अम्बिकापुर एवं दुर्ग के विश्विद्यालय में ऐसी ही व्यवस्था की गई जो सफल साबित हुई है।ऐसी व्यवस्था के लिए राज्य शासन छात्र हित में पण्डित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय को उचित दिशा-निर्देश जारी करने की कृपा करें।

Share The News

Get latest news on Whatsapp or Telegram.

   

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of