अब भारत के पास चीन-अमेरिका की तर्ज पर होगा 5 थिएटर कमान

पाकिस्तान और चीन दोनों को सबक सिखाने का मन इस बार भारत ने बना लिया है। पिछले कई महीने से एलएसी और एलओसी पर जारी तनाव को देखते हुए भारत अपनी सैन्य ताकतों को तेजी बढ़ा रहा है। भारतीय सेना के 2022 तक पांच थिएटर कमान के जरिए पुनर्गठित होने की उम्मीद है। मंत्रिमंडल की मंजूरी के बाद जल्द ही सैन्य मामलों के विभाग के पास अतिरिक्त और संयुक्त सचिव होंगे।

थिएटर कमान के तहत तीनों सेनाओं के पुनर्गठन का काम चीन के विशिष्ट उत्तरी कमान और पाकिस्तान के विशिष्ट पश्चिमी कमान के साथ गंभीर विचार के तहत शुरू हुआ है। भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत को नरेंद्र मोदी सरकार ने थियेटर कमांड बनाने की जिम्मेदारी दी है। वर्तमान में यह सिर्फ चीन और अमेरिका के सैनिकों के पास है।

सैन्य और राष्ट्रीय सुरक्षा नियोजकों के अनुसार, उत्तरी कमान का पुनर्गठन लद्दाख के काराकोरम दर्रे से शुरू होगा और अरुणाचल प्रदेश में अंतिम चौकी किबिथु तक जारी रहेगा, जिसमें वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के 3,425 किलोमीटर की दूरी पर रखवाली करने की जिम्मेदारी शामिल है। इस कमांड का मुख्यालय लखनऊ हो सकता है।

पश्चिमी कमान का रिमांड सियाचिन ग्लेशियर क्षेत्र के सॉल्टोरो रिज पर इंदिरा कर्नल से गुजरात की नोक तक होगा। इसकी मुख्यालय जयपुर होनी की संभावना है। तीसरी थियेटर कमांड प्रायद्वीपीय कमान होगी; चौथा एक पूर्ण वायु रक्षा कमान और पांचवां एक समुद्री कमान। प्रायद्वीपीय कमान का संभावित मुख्यालय तिरुवनंतपुरम हो सकता है। वायु रक्षा कमान न केवल देश के हवाई हमले को गति देगा, बल्कि इसके नियंत्रण में सभी विरोधी विमान मिसाइलों के साथ भारतीय हवाई क्षेत्र की रक्षा करने के लिए भी जिम्मेदार होगा।

Share The News
Read Also  खौफनाक जुर्म के लिए America में 7 दशक में एक महिला को मिली सजा-ए-मौत

Get latest news on Whatsapp or Telegram.