विशेष: मसीहा थीं मिनीमाता

मिनी माता को लोग मसीहा मानते थे। उन्होंने छुआछूत मिटाने के लिए कई काम किये। जरूरमंद की मदद करना वे अपना धर्म मानती थीं।

सन् 1952 में मिनी माता सांसद बनी थीं। उन्होंने देश के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण काम किया था। उनके घर में हर श्रेणी के लोग आते थे और मिनी माता उनकी समस्याओं को हल करने में पूरी मदद करती थीं। ऐसा कहते हैं कि जब वे सांसद के रुप में दिल्ली में रहती थीं तो उनका वास स्थान एक धर्मशाला जैसा था।

मिनी माता का नाम मीनाक्षी देवी था। वे कैसे मीनाक्षी से मिनी माता बनी, यह जानने के लिए हमें उनके अतीत को जानना पड़ेगा। देवबती की बेटी थीं मीनाक्षी देवी थीं। आसाम में उन्होंने मिडिल तक की पढ़ाई की। सन् था 1920 । उस वक्त स्वदेशी आन्दोलन चल रहा था। छोटी-सी मिनी स्वदेशी पहनने लगी। उन्होंने विदेशी वस्तुओं की होली भी जलाई।

उस वक्त गुरु गद्दीनसीन अगमदास जी गुरु गोसाई धर्म का प्रचार करने आसाम पहुँचे। वहाँ मिनी के परिवार में ठहरे थे। उन्होंने मिनी की माताजी के सामने शादी का प्रस्ताव रखा। इसी प्रकार मीनाक्षी देवी मिनी माता बन गईं और छत्तीसगढ़ वापस आईं। अगमदास गुरु राष्ट्रीय आन्दोलन में भाग ले रहे थे। उनके रायपुर का घर सत्याग्रहियों का घर बना।

पं. सुन्दरलाल शर्मा, डॉ. राधा बाई, ठाकुर प्यारेलाल सिंह – सभी उनके घर में आते थे। अगमदास गुरु के कारण ही पूरे सतनामी समाज ने राष्ट्रीय आन्दोलन में भाग लिया।

मिनी माता सब के लिए माता समान थीं। वे हमेशा उन लोगों की मदद करने के लिए तैयार रहती थीं, जिनका कोई नहीं है जिन पर समाज दबाव डाल रहा है। जो कोई भी परेशानी में होता, मिनी माता के पास आ जाता और मिनी माता को देखकर ही उन के मन में शांति की भावना छा जाती।

Read Also  रायपुर पुलिस: तेज रफ्तार वाले होजायें सावधान, नया रायपुर में रफ्तार बढ़ी ई चालान कटी


सन् 1951 में अगमदास गुरु का देहान्त हो गया अचानक। मिनी माता पर अगमदासजी गुरु की पूरी ज़िम्मेदारी आ पड़ी। घर सँभालने के साथ-साथ समाज का कार्य करती रहीं पूरी लगन के साथ। उनका बेटा विजय कुमार तब कम उम्र का था। 1952 में मिनी माता सांसद बनी। तब से उनकी ज़िम्मेदारी और भी बढ़ गई। ऐसा कहते हैं कि हर काम को जब तक पूरा नहीं करतीं, तब तक वे चिन्तित रहती थीं।

नारी शिक्षा के लिए किया काम

नारी शिक्षा के लिए मिनी माता खूब काम करती थीं। सभी को कहती थीं अपनी बेटियों को पढ़ाने के लिए। बहुत सारी लड़कियाँ उनके पास रहकर पढ़ाई करतीं। जिन लड़कियों में पढ़ाई के प्रति रुचि देखतीं, उनके लिए ऊँची शिक्षा का बन्दोबस्त करती थीं।

छत्तीसगढ़ साँस्कृतिक मंडल की मिनी माता अध्यक्षा रहीं। छत्तीसगढ़ कल्याण मज़दूर संगठन जो भिलाई में है, उसकी संस्थापक अध्यक्षा रहीं। बांगो-बाँध मिनी माता के कारण ही सम्भव हुआ था।

मिनी माता का सभी धर्मों के लिए समान आदर भाव था। मिनी माता सभी से यही कहती थीं कि लोगों का आदर करें, सम्मान करें। मिनी माता छत्तीसगढ़ राज्य के आन्दोलन में शुरु से ही सक्रिय हिस्सा लेती रही थीं।

सन् 1972 में एक वायुयान भोपाल से दिल्ली की ओर जा रहा था। मिनी माता भोपाल में अपने बेटे विजय के पास आई थीं। उसी वायुयान से दिल्ली वापस जा रही थीं। उस वायुयान में चौदह यात्री थे। वह वायुयान दिल्ली नहीं पहुँच पाया, उसी दुर्घटना में हमारी मिनी माता भी अपना काम अधूरा छोड़ कर चली गयीं। छत्तीसगढ़ में लोग विश्वास नहीं कर पा रहे थे कि मिनी माता अब उनके बीच नहीं रहीं।

Read Also  छत्तीसगढ़ की उपलब्धि: शंकराचार्य ग्रुप और डॉ देवी सिंह रघुवंशी को मिला एनएसएस अवार्ड, राष्ट्रपति के हाथों हुए सम्मानित


मिनीमाता का मूल नाम मीनाक्षी देवी था। उनका जन्म 13 मार्च 1913 को असम राज्य के दौलगांव में हुआ। उन्हें असमिया, अंग्रेजी, बांगला, हिन्दी और छत्तीसगढ़ी भाषा का अच्छा ज्ञान था। वह सत्य, अहिंसा एवं प्रेम की साक्षात् प्रतिमूर्ति थीं। उनका विवाह गुरूबाबा घासीदास जी के चौथे वंशज गुरू अगमदास से हुआ। विवाह के बाद वे छत्तीसगढ़ आई, तब से उन्होंने इस क्षेत्र के विकास के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया। गुरू अगमदास जी की प्रेरणा से स्वाधीनता के आंदोलन, समाजसुधार और मानव उत्थान कार्यों में उन्होंने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। स्वतंत्रता पश्चात लोकसभा का प्रथम चुनाव 1951-52 में सम्पन्न हुआ। मिनीमाता सन् 1951 से 1971 तक सांसद के रूप में लोकसभा की सदस्य रहीं। छत्तीसगढ़ की प्रथम महिला सांसद के रूप में उनके दलितों एवं महिलाओं के उत्थान के लिए किए गए कार्यों के लिए सदा याद किया जाएगा। अविभाजित मध्यप्रदेश में बिलासपुर-दुर्ग-रायपुर आरक्षित सीट से लोकसभा की प्रथम महिला सांसद चुनी गईं। इसके बाद परिसीमन में अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित जांजगीर लोकसभा क्षेत्र से चार बार चुनाव जीत कर लोकसभा पहुंची।


मिनीमाता के योगदान को चिरस्थाई बनाने के लिए तत्कालीन मध्यप्रदेश में हसदेव बांगो बांध को मिनीमाता के नाम पर रखकर किसानों के हित में किए गए उनके कार्यो के प्रति श्रद्धांजलि दी गई। आज बिलासपुर और जांजगीर जिले के हजारों किसानों को सिंचाई की सुविधा मिल रही है। मिनीमाता ने उद्योगों में हमेशा स्थानीय लोगों को रोजगार दिए जाने की वकालत की। वर्ष 2000 में छत्तीसगढ़ के गठन के बाद छत्तीसगढ़ शासन द्वारा मिनीमाता की स्मृति में समाज एवं महिलाओं के उत्थान के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए मिनीमाता सम्मान की स्थापना की गई। छत्तीसगढ़ सरकार ने गांवों में घर-घर शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए मिनीमाता अमृत धारा योजना की शुरूआत की गई है।

Share The News

CLICK BELOW to get latest news on Whatsapp or Telegram.

 





आदर्श नर्सिंग इंस्टीट्यूट में फ्रेशर्स इवेंट का हुआ आयोजन, सीनियर्स ने किया जूनियर्स का वेलकम

By User 6 Tweelabs / December 4, 2021 / 0 Comments
पुराना धमतरी रोड स्थित आदर्श नर्सिंग इंस्टीट्यूट दतरेंगा में आज 4 दिसम्बर दिन शनिवार को फ्रेशर्स पार्टी का आयोजन किया गया। आयोजित हुए इस फ्रेशर्स पार्टी में बी.एस.सी नर्सिंग पढ़ रहे सीनियर्स ने अपने जूनियर्स  का स्वागत किया वहीं उन्हें...

नए साल की शुरुआत में चरम पर होगी कोरोना की तीसरी लहर

By Reporter 1 / December 6, 2021 / 0 Comments
कोरोना वायरस के नए वैरिएंट का संक्रमण शुरू हो चुका है, तो तीसरी लहर नए साल की शुरुआत में चरम पर होने की आशंका है। हालांकि भारत में इसके बहुत प्रभावी होने की आशंंका नहीं है, क्योंकि यहां 80 प्रतिशत...

Bumper प्रमोशन न्यूज: बड़ी संख्या में इस विभाग में हुए प्रमोशन, देखिए आदेश

By Reporter 5 / December 7, 2021 / 0 Comments
देखें अपना नाम.... रायपुर। राज्य सरकार ने पीडब्लूडी में बड़ी संख्या में प्रमोशन हुआ है। विभागीय प्रमोशन कमेटी की अनुशंसा के अनुसार विभाग के 96 चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों को पदोन्नत करते हुए सहायक ग्रेड 3 श्रेणी प्रदान की गई है।...

छत्तीसगढ़ के नुक्कड़ कैफे को मिला बेस्ट एम्प्लॉयर का राष्ट्रीय पुरस्कार, आइये जानतें हैं क्या है कैफ़े की खासियत

By User 6 Tweelabs / December 4, 2021 / 0 Comments
रायपुर। 3 दिसम्बर को देशभर में विश्व दिव्यांगजन दिवस मनाया गया, इस अवसर पर छत्तीसगढ़ स्थित नुक्कड़ कैफे को राष्ट्रीय स्तर का अवार्ड प्राप्त हुआ है, यह रायपुर समेत पूरे छत्तीसगढ़ के लिए गौरव की बात है। यह अवार्ड कल...

बेहतर सेलरी पाने के लिए चुनें ये करियर ऑप्शन, इन डिग्रियों से पायें लाखों का पैकेज

By User 6 Tweelabs / December 6, 2021 / 0 Comments
हम सब एक बेहतर नौकरी की तलाश में रहते हैं। जहां हमारी सैलरी बेहतर हो और हमें एक अच्छा लिविंग स्टैंडर्ड मिले, इतना ही नौकरी पाने के बाद हमारा सोसाइटल स्टेटस भी बढ़ जाए। इन सभी बेहतर चीजों के लिए...

सीएम बघेल ने मंत्री परिषद की बैठक में लिए महत्वपूर्ण निर्णय

By User 6 Tweelabs / December 8, 2021 / 0 Comments
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज दिनांक 8 दिसंबर को यहां उनके निवास कार्यालय में मंत्री परिषद की बैठक हुई, इस बैठक में कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।  इन निर्णयों के अंतर्गत प्रदेश के खाद्य, विद्युत, उद्योग, शिक्षा, स्वास्थ्य...

लडकियां इन पांच राशियों वाले लड़कों के प्यार में हो जाती हैं पागल

By Reporter 1 / December 7, 2021 / 0 Comments
ज्योतिष के जानकर अक्‍सर राशियों की गणना करते रहते हैं। इस बार  ज्योतिषियों ने दावा किया है कि पांच राशि के युवकों के प्‍यार में लडकियां पागल और दीवानी हो जाती हैं। हम आपको ऐसे ही पांच राशि के मर्दों के बारे...

प्रियंका और निक जोनस ने सेलिब्रेट किया शादी का तीसरा सालगिरह, शेयर की डिनर फोटोज़

By User 6 Tweelabs / December 3, 2021 / 0 Comments
बॉलीवुड की देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा और अमेरिकन सिंगर निक जोनास  ने अपनी शादी की मैरिज एनिवर्सरी मनाई है और दोनों ने अपने बिजी शैड्यूल से वक्त निकालकर ये खास डेट प्लान किया है। बता दें कि अभी तक कुछ दिनों पहले...

महिला कांस्टेबल को मिली लिंग परिवर्तन कराने की अनुमति

By Reporter 1 / December 3, 2021 / 0 Comments
मध्य प्रदेश सरकार ने राज्‍य एक जिले में पदस्थ महिला कांस्टेबल को लिंग परिवर्तन कराने की अनुमति दे दी है। तीन साल चली विधिक प्रक्रिया के बाद गृह विभाग ने उसको इसकी अनुमति दी। अब पुलिस मुख्यालय अलग से आदेश...

अरुनिता की शादी का कार्ड मिलने पर पवनदीप का क्या होगा रिएक्शन? गाना गाकर बताया अपने मन का हाल

By User 6 Tweelabs / December 4, 2021 / 0 Comments
टीवी के चर्चित सिंगिंग रियलिटी शो ‘इंडियन आइडल’ के 12वें सीजन के विजेता रहे पवनदीप राजन और उपविजेता रही अरुणिता कांजीलाल ने अपनी सुरीली आवाज से दर्शकों को ख़ूब दीवाना बनाया था। इस शो का हिस्सा बनने के बाद दोनों...