Rahul Gandhi पर सवाल उठाने वाले नेता पर आलाकमान का एक्शन

बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के बाद कुछ वरिष्‍ठ नेताओं ने पार्टी नेतृत्‍व और राहुल गांधी की कार्यप्रणाली पर सवाल उठा दिया। यह बात कांग्रेस आलाकमान, राहुल गांधी और उनके समर्थकों को नागवार गुजरी। नतीजा यह हुआ कि कांग्रेस में संगठनात्‍मक सुधार करने के बजाय सवाल उठाने पर नेताओं पर ही कार्रवाई शुरू कर दी गई।

कांग्रेस के कुछ वरिष्‍ठ नेताओं ने पार्टी नेतृत्‍व और राहुल गांधी की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया तो पार्टी के अंदर घमासान शुरू हो गया है। पार्टी के असंतुष्ट नेताओं ने बिहार में मिली हार को सामने कर पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाए हैं। पार्टी में मची रार को देखकर आलाकमान भी एक्शन के मूड में दिखाई दे रहा है।

इसी कडी में पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर सवाल उठाने वाले पूर्व सांसद फुरकान अंसारी को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि अंसारी को सात दिन में स्पष्टीकरण देने के लिए कहा गया है। पार्टी नेता अंसारी को भेजे नोटिस को एक नजीर के तौर पर देख रहे हैं। पार्टी आलाकमान अंसारी को नोटिस भेजकर दूसरे नेताओं को ये समझाने का प्रयास करना चाहता है कि कांग्रेस नेता कुछ भी बोलने से पहले सोचें। अंसारी को नोटिस देने के साथ जो नेता पार्टी से बगावती तेवर दिखा रहे हैं या शीर्ष नेतृत्व पर पिछले काफी समय से सवाल उठा रहे हैं, उन्हें भी नोटिस देने का रास्ता साफ हो गया है।

एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि अनुशासन पार्टी के सभी सदस्यों के लिए एक समान हैं। अंसारी को कारण बताओ नोटिस देने के बाद अन्य असंतुष्ट नेताओं के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग तेज हो जाएगी। पार्टी ने अभी तक किसी नेता के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है, लेकिन लगता है कि कुछ नेताओं पर गाज गिर सकती है। उन्होंने कहा ऐसा करना जरूरी हो गया है क्योंकि नए अध्यक्ष के चुनाव के लिए प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। जल्द चुनाव कार्यक्रम का ऐलान कर दिया जाएगा।

Share The News
Read Also  सुप्रभात: साथ जरूरी है !

Get latest news on Whatsapp or Telegram.