इमरान के मंत्री Pulwama पर दिए बयान से FATF के डर से पलटे

FATF की कार्रवाई के डर से Pulwama पर दिए बयान से इमरान के मंत्री पलट गए। इमरान सरकार में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद हुसैन ने पुलवामा आतंकी हमले को ‘घर में घुस कर मारा’ और इसमें पाकिस्तान का हाथ स्वीकार करने के बाद अपनी फितरत के अनुरूप 24 घंटों में अपने बयान से पलट गए। एक भारतीय चैनल से बातचीत में उन्होंने इसे बकवास करार देते हुए कहा कि यह भारतीय मीडिया है, जो उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर प्रस्तुत कर रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत में राजनीतिक नफा-नुकसान के लिए बयानों को अपने हिसाब से कांट-छांट कर दिखाया जाता है। पीएमएल-एन सांसद अयाज सादिक के अभिनंदन पर दिए बयान से किनारा करते हुए फवाद हुसैन ने कहा कि वह सिर्फ राजनीति करते हुए ‘झूठ’ बोल रहे थे।

माना जा रहा है कि एफएटीएफ  की ग्रे लिस्ट की डर से फवाद हुसैन नेशनल असेंबली में दिए बयान से पलटे हैं। एक मीडिया चैनल से बातचीत में फवाद ने कहा कि पुलवामा पर वह 26 फरवरी 2019 के बाद के घटनाक्रम पर बात कर रहे थे। उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि यह निरी बकवास है कि पुलावामा आतंकी हमले में पाकिस्तान का हाथ था। इसके लिए भारतीय मीडियो को दोषी ठहराते हुए फवाद हुसैन ने कहा कि उनका पूरा बयान देखा जाए। उन्होंने कहा कि भारतीय मीडिया की तरह ‘घर में घुस कर मारने में’ पाकिस्तान यकीन नहीं करता है। भारत में राजनीतिक हानि-लाभ के लिए लिहाज से बयानों को तोड़-मरोड़ कर प्रस्तुत किया जाता है।

Share The News
Read Also  हिटलर के 'पालतू मगरमच्छ' की हुई मौत, विश्व युद्ध के दौरान भी नहीं मरा था सैटर्न

Get latest news on Whatsapp or Telegram.