लॉक डाउन में क़िस्त पटाने वालों के लिए खुशखबरी

बैंक देगी कैशबैक

दशहरे के मौके पर आपके लिए एक अच्छी खबर आई है। कोरोना काल में होने वाले लॉक डाउन में जिन्होंने बैंक की क़िस्त पटाई है उन्हें बैंक कैश बैक देगा। केंद्र सरकार ने कहा है कि अगर बैंक ग्राहकों ने लॉकडाउन के दौरान मोराटोरियम का फायदा नहीं उठाया और अपने लोन की किस्तें देते रहे हैं तो कैशबैक का फायदा मिलेगा। कोरोना काल के दौरान भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा लोन की ईएमआई पर लिए गए ब्याज के ऊपर ब्याज पर छूट देने के दिशा-निर्देश सरकार ने जारी कर दिए हैं। ऐसे में अब लोगों को फेस्टिव सीजन के दौरान ब्याज पर लिए ब्याज की रकम वापस मिल सकेगी।

समय पर ईएमआई चुकाने वालों को मिलेगा फायदा सरकार ने कहा है कि अगर किसी कर्जदार ने मोराटोरियम का लाभ नहीं उठाया और किस्त का भुगतान समय पर किया है तो बैंक से उन्हें कैशबैक दिया जाएगा। इस स्कीम के तहत ऐसे कर्जदारों को 6 महीने के सिंपल और कम्पाउंड इंट्रेस्ट में डिफरेंस का लाभ मिलेगा महामारी के चलते दी गई सुविधा भारतीय रिजर्व बैंक ने कोरोना वायरस महामारी के समय में ग्राहकों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए उन्हें छह महीनों के लिए लोन मोराटोरियम की सुविधा दी थी। इस दौरान जो लोग वित्तीय रूप से ईएमआई का भुगतान करने में असमर्थ थे, उन्होंने इसका लाभ उठाया। वहीं कई लोगों ने मोराटोरियम अवधि के दौरान भी नियमित रूप से किस्त चुकाई है। ऐसे लोगों को बैंक कैशबैक देंगे।

Share The News
Read Also  गोबर विक्रेताओं को आठ करोड़ रूपए का हुआ ऑनलाईन भुगतान

Get latest news on Whatsapp or Telegram.